कोरोना संक्रमण बढ़ने से दबाव में रहेगा शेयर बाजार

कई राज्यों ने अपनी तरफ से प्रतिबंध लगाये हैं। इससे आर्थिक गतिविधियों के प्रभावित होने की आशंका है जिसे देखते हुये निवेशक बिकवाली बढ़ा सकते हैं।

मुंबई: कोविड-19 महामारी की दूसरी लहर के कारण बेकाबू हुई स्थिति​ और कई राज्यों में आंशिक या साप्ताहिक लॉकडाउन ( Weekly lockdown ) के कारण घरेलू शेयर बाजारों में लगातार दूसरे सप्ताह गिरावट देखी गई और आने वाले सप्ताह में भी यह क्रम जारी रहने की आशंका है।

देश में कोविड-19 का संक्रमण पहली लहर की तुलना में काफी तेजी से फैल रहा है। हर दिन दो लाख से अधिक नये मामले आने शुरू हो गये हैं। केंद्र सरकार की तरफ से अभी किसी प्रकार के देशव्यापी प्रतिबंध की घोषणा नहीं की गई है, लेकिन कई राज्यों ने अपनी तरफ से प्रतिबंध लगाये हैं। इससे आर्थिक गतिविधियों के प्रभावित होने की आशंका है जिसे देखते हुये निवेशक बिकवाली बढ़ा सकते हैं।

बीते सप्ताह बुधवार को अंबेडकर जयंती के अवकाश के कारण बाजार में चार दिन ही कारोबार हुआ। इस दौरान सोमवार को बड़ी गिरावट रहने से बीएसई का सेंसेक्स 759.29 अंक यानी 1.53 प्रतिशत की साप्ताहिक गिरावट के साथ शुक्रवार को 48,832.03 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी भी 217 अंक यानी 1.15 प्रतिशत टूटकर सप्ताहांत पर 14,617.85 अंक पर रहा।
मझौली और छोटी कंपनियों पर दबाव अधिक रहा। बीएसई का मिडकैप 2.91 प्रतिशत लुढ़ककर 20,157.36 अंक पर और स्मॉलकैप 2.68 फीसदी की साप्ताहिक गिरावट के साथ 21,018.55 अंक पर रह गया।

यह भी पढ़े: इतिहस ने आज के दिन एक महान Scientist को खोया था, बचपन में 4 साल तक एक शब्द नहीं बोल पाए अचानक बोले पूरा वाक्य

Related Articles