छात्रा ने पूछा, कम मार्क्स क्यों दिए? भड़के स्कूल स्टाफ ने की गाली गलौज और मारपीट

15 वर्षीय छात्रा और स्कूल स्टाफ के बीच जो विवाद हुआ, उसमें बीच बचाव करने में छात्रा के परिजन भी स्कूल स्टाफ से जूझते हुए तस्वीरों साफ़ तौर पर नज़र आ रहे हैं।

जबलपुर: शिक्षा के मंदिर में शिक्षक को अपने छात्रों के साथ स्नेह, अनुशासन और प्रोत्साहन का रिश्ता रखना होता है, लेकिन जबलपुर के बिलहरी स्थित अय्यप्पा हायर सेकेंडरी स्कूल से एक ऐसा वीडियो सामने आया है, जो बेहद शर्मसार कर देने वाला है। सोशल मीडिया में वायरल हो रहे इस वीडियो में दसवीं कक्षा की एक छात्रा और उसके परिजनों के साथ स्कूल स्टाफ मारपीट करता हुआ नज़र आ रहा है। गुस्से में छात्रा और उसके परिजन भी प्रतिक्रिया देते नज़र आ रहे हैं। वास्तव में रिजल्ट को लेकर हुए मामूली विवाद में बात इतनी बढ़ गई कि हाथापाई तक जा पहुंची।

स्कूल स्टाफ पर मुक़दमा हुआ दर्ज 

15 वर्षीय छात्रा और स्कूल स्टाफ के बीच जो विवाद हुआ, उसमें बीच बचाव करने में छात्रा के परिजन भी स्कूल स्टाफ से जूझते हुए तस्वीरों साफ़ तौर पर नज़र आ रहे हैं। आप को बता दें कि छात्रा टीसी लेने स्कूल पहुंची थी, छात्रा के मुताबिक हाल में आए दसवीं बोर्ड के परिणामों में इंटरनल एसेसमेंट के आधार पर परिणाम जारी किए गए। छात्रा ने अपने पुराने ट्रैक रिकॉर्ड को बेहतर बताते हुए स्कूल के मैनेजर से सिर्फ इतना पूछ लिया कि आखिर उसे कम मार्क्स क्यों दिए गए!

बस छात्रा का इतना पूछना ही स्कूल स्टाफ को इस कदर नागवार गुज़रा कि पहले तो स्कूल स्टाफ ने छात्रा से तू तड़ाक करके बात फिर मारपीट की, बीच बचाव में छात्रा के परिजनों ने भी बल प्रयोग किया और बताया जा रहा है कि स्कूल से जान बचाकर भागने तक की नौबत तक आ गई। जिसके बाद पीड़िता अपनी बहनों और मां को लेकर गोराबाजार थाने पहुंच कर स्कूल स्टाफ पर धारा 294, 323 ,506 और अन्य धाराओं के तहत एफआईआर दर्ज करा दी।

यह भी पढ़ें: सड़क पर भरे कींचड़ से खुद को बचाने के लिए लड़की ने निकाला गजब का तरीका, देखें वीडियो

(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब  पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

 

Related Articles