लव जेहाद का मामला पहुंचा सुप्रीम कोर्ट, आतंकवादी के डर की लड़ाई लड़ रहा हिंदू बाप

0

नई दिल्ली। केरल के लव जेहाद मामले पर अब सुप्रीम कोर्ट समीक्षा करेगा। यहा मामला केरल की हाई कोर्ट में 9 अक्‍टूबर को सुना जायेगा। लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने कहा है कि वह इसे अपने अस्‍तर पर भी देखेगा। साथ ही समीक्षा भी करेगा। वहीं आपको बता दें की इस पूरे मामले पर देश की सवोच्‍च न्‍याय व्‍यवस्‍था मामले पर अपनी नजर बनाए हुए है। सुप्रीम कोर्ट ने इस मामले पर एनआईए को जांच के निर्देश दिए थे।

जिसमें सुप्रीम कोर्ट ने कहा था, कि इस मामले में एनआईए जांच सुप्रीम कोर्ट के रिटायर न्यायाधीश आर वी रवींद्रन की देखरेख में होगी। इससे पहले केरल हाईकोर्ट ने युवती का धर्मपरिवर्तन कराके हिन्दू लड़की से शादी की थी। जिसे बाद में हाईकोर्ट ने रद्द दिया था।

यह भी पढ़े- यहां कभी भी बना लिया जाता है महिलाओं को शिकार, रेप है आम बात  

वहीं आपकी जानकारी के लिए बता दें की हिंदू से मुस्‍लिम बनी लड़की के पति ने खुद ही एक याचिका दायर की थी। पति शफीन जहां ने सुप्रीम कोर्ट में याचिका दाखिल करके कहा था कि उसकी पत्नी को कोर्ट पेश किया जाए। उसके पति ने आरोप लगाया था, की पत्‍नी को उसके पिता ने जबरन कैद कर रखा है। साथ ही कोर्ट को बताया कि उसने 24 वर्षीय हिन्दू लड़की से शादी की थी। जिसके बाद वह इस्लाम धर्म अपना लिया था। वहीं लड़की के पिता एक समाचार पत्र में दिये सक्षात्‍कार में कहा है की

मुझे अपनी लड़की के धर्म परिवर्तन और मुस्लिम लड़की से शादी को लेकर कोई दिक्कत नहीं है। मुझे डर है कि मेरी बेटी को आतंकवादी न बना दिया जाय। साथ ही मुझे यह भी डर है की मेरी बेटी को विदेश न भेज दिया जाय । जिसके खिलाफ मै कानूनी लड़ाई लड़ रहा हूं। और हमे भरोसा है की न्‍याय की जीत होगी।

loading...
शेयर करें