सुप्रीम कोर्ट का नया रोस्टर हुआ जारी, अब से चीफ जस्टिस ही सुनेंगे सभी पीआईएल

0

नई दिल्ली। रविवार को जस्टिस जे. चेल्मेश्वर के रिटायर होने के बाद सुप्रीम कोर्ट में नया रोस्टर सिस्टम लागू कर दिया गया है। जो की जो 2 जुलाई से लागू होगा। नए रोस्टर के मुताबिक अब से चीफ जस्टिस ही सभी जनहित याचिकाओं पर सुनवाई करेंगे।

सुप्रीम कोर्ट

उल्लेखनीय है कि जस्टिस जे. चेलमेश्वर, गोगोई, एमबी लोकुर और कुरियन जोसेफ के विगत 12 जनवरी को एक प्रेस कांफ्रेंस बुलाकर संवेदनशील जनहित याचिकाओं को अन्य जूनियर जजों को दिए जाने पर ऐतराज जताया था। इसके बाद पहली बार एक फरवरी को रोस्टर जारी कर उसे सार्वजनिक किया गया है। सूची में अधिसूचित मामलों को मुख्य न्यायाधीश और दस अन्य जज गोगोई, लोकुर, जोसेफ, एके सीकरी, एसए बोबडे, एनवी रमन, अरुण मिश्रा, एके गोयल, आरएफ नरिमन और एएम सप्रे देखेंगे।

नए रोस्टर में स्पष्ट कर दिया गया है कि सुप्रीम कोर्ट के चीफ जस्टिस ही अब जनहित याचिकाओं पर सुनवाई कर सकेंगे। जस्टिस मदन बी. लोकुर भूमि अधिग्रहण, पर्यावरण गड़बड़ी, वन्य संरक्षण, सामाजिक न्याय, उपभोक्ता संरक्षण के मसले देखेंगे। जस्टिस कुरियन जोसेफ श्रम कानून, किराया कानून, परिवार कानून और कोर्ट की अवमानना से जुड़े केस देखेंगे।

दूसरी ओर जस्टिस अरजन कुमार सिकरी अप्रत्यक्ष कानून, चुनाव और न्यायिक अधिकारियों के केस सुनेंगे। जस्टिस एस ए बोबडे अकादमिक, मुआवजा और एडमिशन से जुड़े मामले देखेंगे लेकिन इनमें इंजीनियरिंग-मेडिकल संस्थानों में एडमिशन के केस शामिल नहीं होंगे।

loading...
शेयर करें