पीडीपी नेता की धमकी, गोहत्या के नाम पर मुसलमानों की हत्याएं बंद करो वरना

नई दिल्‍ली। जम्मू कश्मीर में भाजपा और पीडीपी के गठबंधन टूटने के बाद दोनों दलों के नेताओं का एक-दूसरे पर आरोप प्रत्यारोप का दौर जारी है। इसी कड़ी में गोहत्या को लेकर शनिवार को भी पीडीपी धमकी दी है। पीडीपी नेता का कहना है कि गोहत्‍या के नाम मुसलमानों की हत्‍या बंद करें वरना नतीजे अच्‍छे नहीं होंगे।

पीडीपी

घाटी में एक जनसभा को संबोधित करते हुए पीडीपी नेता मुजफ्फर हुसैन बेग ने ये बातें कहीं। उन्होंने कहा कि गाय और भैंस के नाम पर मुसलमानों के कत्‍ल बंद करें वरना नतीजे अच्‍छे नहीं होंगे। 1947 में एक बंटवारा पहले ही हो चुका है।

वहीँ इससे पहले इसी सभा में राज्‍य की पूर्व मुख्‍यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने अपने भाषण में कहा कि पीडीपी की पहल की वजह से ही रमजान के दौरान संघर्षविराम की पहल की गई थी। मैं हुर्रियत के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण दिखाने के लिए केंद्र से अपील करती हूं और बातचीत शुरू करने के लिए उन्हें दोबारा मेज पर लाने की मांग करती हूं।

आपको बता दें कि तीन साल तक साथ में सरकार चलाने के बाद बीजेपी ने कई गंभीर आरोप लगाते हुए पीडीपी से गठबंधन तोड़ लिया था। भाजपा का कहना था कि मौजूदा सरकार केंद्र से मिली धनराशी कश्मीर में खर्च नहीं करती जिसकी वजह से यहाँ विकास कार्य नहीं हो रहे।

वर्ष 2014 में जम्मू कश्मीरकी 87 विधानसभा सीटों पर चुनाव हुए थे, जिसमें जम्मू एण्ड कश्मीर पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी (पीडीपी) 28 सीटों पर जीत का परचम लहराकर सबसे बड़ी पार्टी का खिताब अपने नाम किया था। इसके अलावा भाजपा के खाते में भी 25 सीटें आई थी। इसके अलावा कांग्रेस को 12 सीटें हासिल हुई थी। इसके बाद भाजपा और पीडीपी ने गठबंधन कर सरकार बनाई थी।

Related Articles