कार्यकुशलता पर महिलाओं के बारे में आया चौकाने वाला सच, जानकर हो जायेंगे दंग

0

वाशिंगटन। इस आधुनिक युग में जितना पुरुषों को दर्जा दिया जाता है उतना ही महिलाओं को भी देने की वकालत की जा रही है। लेकिन तमाम दावों के बाद भी जो स्‍थिति आज महिलाओं की बनी हुई है। वह चौकाने वाली से कम नही है। बहुत से कोशिशों के बाद भी आज के समय में भी स्थिति ज्यादा अच्‍छी नहीं है। इसका खुलास एक हाल ही में हुई एक स्टडी से सामने आया है।

इस अध्‍यान में बताया गया है कि दफ्तर में काम करने वाले लोगों में पुरुषों के मुकाबले महिलाओं को किसी भी काम का कम क्रेडिट दिया जाता है। स्टडी में दावा किया है कि कई मामलों में अगर आफिस में पुरुष काम बेहतर करने के लिए किसी भी बदलाव की बात करते हैं तो उन्‍हें प्रोत्‍साहन दिया जाता है। जबकि महिलाओं के साथ ऐसा नहीं होता है। यह कहा है अमेरिका की यूनिवर्सिटी और डलावेयर के कायल ईमिच ने।

वहीं इस अध्‍ययन में कहा गया है कि जब लोग अपने किसी लीडर के बारे में सोचते हैं तो वो कोई महिला नहीं बल्कि पुरुष होता है। साथ ही ईमिच के अनुसार 10 लोगों की टीम में किसी पुरूष को लीडर बनाने के लिए दो तिहाई लोग ही अपनी सहमति देते हैं।

loading...
शेयर करें