जिस चाचा ने गोद में खिलाया उसी ने मासूम को काट डाला

कानपुर। जिस चाचा ने मासूम को गोद में खिलाया उसी ने धारदार हथियार से काटकर हत्या कर दी। इसके बाद उसका शव जमीन में गाड़ दिया। जब घर वालों ने सख्ती से पूछा तो चाचा ने हत्या करने की बात बताई। जिससे घर में कोहराम मच गया। चाचा मानसिक रूप से विक्षिप्त बताया जा रहा है।

जनपद के घाटमपुर क्षेत्र के रातेपुर गांव लल्लन सिंह का भाई उपेन्द्र पिछले तीन चार सालों से मानसिक रूप से विक्षिप्त है। काफी इलाज के बाद करीब एक साल से वह कुछ ठीक था। हालाँकि बीच-बीच में उसे पागलपन के दौरे पड़ते रहते थे।
शुक्रवार की सुबह वह अपने सबसे छोटे भतीजे ढाई साल के अंशू को लेकर खेतों की ओर गया था। थोड़ी देर बाद वह अकेले वापस लौट आया। काफी देर बाद घर वालों को अंशू की याद आई तो उसकी खोजबीन शुरू हुई। जब वह नहीं मिला तो लल्लन सिंह ने छोटे भाई उपेन्द्र से कड़ाई की। जिस पर उसने मासूम की हत्या करने की बात बताई। घर वालों को फिर भी विश्वास नहीं हुआ तो वह उपेन्द्र को लेकर घटनास्थल पर पहुंचे। जहाँ पर उपेन्द्र की निशानदेही पर मिटटी में अंशू का शव दबा मिला। किसी धारदार हथियार से उसकी हत्या की गई थी। मासूम की हत्या से घर में कोहराम मच गया। जबकि गांव व क्षेत्र में भी हत्याकांड की चर्चा होती रही। लल्लन की अंशू पांचवी सन्तान थी। लल्लन ने बताया कि बेटी की चाहत में पांच बेटे हुए हैं। पुलिस ने उपेन्द्र को गिरफ्तार कर लिया है। हवालात में भी उपेन्द्र पागलों जैसी हरकतें कर रहा था। जैसे उसे एहसास ही नहीं था कि उसने उसी की जान ले ली जो उसकी गोद में खेलते हुए साथ गया था।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button