पत्नी से साथ थे दोस्त के अवैध संबंध पता लगने पर किया हत्या शव को खेत में लगया ठिकाना 

उत्तराखंड: पत्नी के साथ अवैध संबंध से एक युवक ने अपने दोस्त की गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या करने के बाद शव को पास के एक गेहूं कि खेत में फेंक दिया। खेत का मालिक ने शव पड़ा होने की सूचना पुलिस को दी। पुलिस ने शव का पंचनामा भरकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।शक के आधार पर पुलिस ने युवक से पूछताछ की तो बता चला कि उसने पत्नी से अवैध संबंध होने के शक में हत्या करने की बात स्वीकार कर ली।पुलिस ने मृतक के पिता की तहरीर पर आरोपी युवक के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है।बुग्गावाला थाना क्षेत्र के गांव रसूलपुर गांव निवासी जगपाल सिंह बुधवार की शाम गांव के पास अपने खेत पर गया था। गेहूं के खेत में उसने गांव के ही गोपी (26) पुत्र राकेश का शव पड़ा देखा और सूचना पुलिस व ग्रामीणों को दी। सूचना मिलते ही बुग्गावाला एसओ नंदकिशोर ग्वाड़ी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे।इस दौरान मृतक के पिता व ग्रामीणों ने बताया कि गोपी  दिन में गांव के ही प्रवीण पुत्र राजकुमार के साथ घूमता देखा गया था। पुलिस ने प्रवीण को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की। इस पर प्रवीण ने पुलिस को बताया कि उसे अपनी पत्नी और उसके दोस्त गोपी के बीच अवैध संबंध होने का शक था।जिस पर उसने गोपी को ठिकाने लगाने के लिए पहले उसे दिन में शराब पिलाई। इसके बाद वह उसे गांव के पास एक खेत में पड़ी झोपड़ी में ले गया। वहां भी उसने गोपी को शराब पिलाई। जब गोपी को नशा हो गया तो उसने जूतों के फीते से उसकी गला घोटकर हत्या कर दी।

एसओ नंद किशोर ग्वाड़ी ने बताया कि शव का पंचनामा भरने के बाद पोस्टमार्टम के लिए सिविल अस्पताल रुड़की भेज दिया। मृतक के पिता राकेश की तहरीर पर आरोपी प्रवीण के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर लिया है। साथ ही आरोपी ने जिन जूतों के फीते से गला घोटकर हत्या की थी। उन जूतों को भी अपने कब्जे में ले लिया है।किसी को उसके ऊपर शक न हो इसलिए प्रवीण ने गोपी की हत्या करने के बाद झोपड़ी से शराब की बोतल और गिलास व पानी की बोतल हटा दी थी। पुलिस ने आरोपी की निशानदेही पर शराब की खाली बोतल, गिलास व पानी की बोतल भी बरामद कर ली है। पुलिस ने घटनास्थल से बरामद सभी सामान को सील कर दिया है।
ग्रामीणों के अनुसार, गोपी और प्रवीण में गहरी दोस्ती थी और दोनों का एक-दूसरे के घर में काफी आना जाना था। साथ ही दोनों एक साथ ही मजदूरी करने जाते थे। वहीं, ग्रामीणों को अभी विश्वास नहीं हो रहा है कि प्रवीण जिसके साथ दिन रात घूमता था, वही उसकी हत्या कर देगा। उधर, गोपी की मौत से परिजनों में कोहराम मचा है। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल है।

Related Articles