गांव वालों ने शिवलिंग समझकर चढ़ाया दूध और जल, जब हकीकत पता चली तो…

बदायूं: उत्‍तर प्रदेश के बदायूं से अजीबोगरीब मामला सामने आया है, जिसे जानकर आप भी हंस पड़ेंगे। हाल ही में यहां के कुंवरगांव इलाके के लोगो ने अंधविश्वास के चलते एलईडी बल्ब (LED Bulb) को शिवलिंग (Shivling)
समझकर सुबह से लेकर दोपहर तक पूजा करते रहे। लोगो की आंखे तो तब खुली जब उसे पूरा खोदा तो कोई तो पता चला वो शिवलिंग (Shivling) नहीं एलईडी है तब सभी का हस्ते हुए लोटने लगे।

जानकारी की मुताबिक, ये घटना रविवार को संज्ञान में आई है जबकि मामला 27 जनवरी का है। कुंवरगांव थाना क्षेत्र में एक व्यक्ति अपनी पशुशाला में सुबह के समय सफाई कर रहा था, इस दौरान वहां पर अचानक एक सफेद चीज दिखाई पड़ी। जैसे ही उसने थोड़ी मिट्टी हटाई, तो वह उसे सफेद रंग गोल जैसी चमक वाली चीज दिखी थी। बिना पूरी मिट्टी हटाए उसने सूचना पुरे गांव में फैला दी। कुछ लोग इसे शुरू से अंधविश्वास मान रहे थे, तो कुछ ग्रामीण कहने लगे कि यह भगवान शिव का शिवलिंग है।

ये भी पढ़े : सनकी पति का देखें खौफनाक चेहरा, हैंडपंप के हत्‍थे से पत्नी का किया बुरा हश्र

बस फिर क्या था इसकी खबर लगते ही गांव के कई लोग वहां आकर पूजा शुरू कर दिए, सभी लोग अपने घर से चढ़ावे का सामान दूध, जल, बिल्व पत्तर, रुपये और प्रसाद आदि लाकर चढ़ाने लगे। दोपहर उसे शिवलिंग समझ कर उसकी खूब पूजा हुई और तमाम लोगों ने दूध चढ़ाया। इस दौरान करीब पंद्रह सौ रुपये चढ़ावे में भी आ गए।

ये भी पढ़ें : योगी सरकार बेरोजगारों को देगी रोजगार, 53 हजार पदों पर करेंगी भर्ती

मंदिर में रूपये किये दान

इसका खुलासा तो तब हुआ जब वहां पर दोपहर बाद कुछ शरारती लोगों ने मिट्टी हटाकर उस चीज को पूरा निकाला तप पता चला की वह शिवलिंग नहीं एलईडी बल्ब था। इसके बाद उनका भ्रम दूर हुआ। जब खुलासा हुआ तो लोग खूब हंसने लगे और इसके बाद चढ़ावे में आए रुपये गांव के शनि मंदिर में दान करा दिए। हकीकत जानने के बाद हर कोई वहां से मुस्‍कराते हुए जाता नजर आया।

Related Articles

Back to top button