दुनिया के मशहूर Jog Waterfall का पानी हुआ कम, ये है मुख्य कारण

कर्नाटक के शिमोगा में दुनिया का मशहूर जोग वॉटरफॉल का पानी कम हो गया है

बेंगलुरु: कर्नाटक (Karnataka) के शिमोगा में दुनिया के मशहूर जोग वॉटरफॉल (Jog Waterfall) का पानी कम हो गया है। एक पर्यावरणविद् (Environmentalist) शंकर शर्मा ने बताया कि, “झरने में पानी कम होने के कई कारण हैं लेकिन प्रमुख कारण यह है कि पिछले 70-80 सालों में पश्चिमी घाट के वर्षा वन के जगल कम हो गए हैं।”

जोग वॉटरफॉल  कर्नाटक में शरावती नदी पर है। यह चार छोटे-छोटे वॉटरफॉल- राजा, राकेट, रोरर और रानी से मिलकर बना है। इसका जल 253 मीटर की ऊंचाई से गिरता है जो बड़ा ही सुंदर दृश्य दर्शाता है। और बहुत ही सुंदर भी लगता है। इसका एक अन्य नाम जेरसप्पा भी है। गेरसप्पा कर्नाटक और महाराष्ट्र राज्यों की सीमा पर शिवमोगा जिले के प्रधान केंद्र से 95 किमी दूर स्थित है। शिवमोगा से वॉटरफॉल तक मोटर मार्ग है, जो मनोरम जंगलों से होकर गया है। रास्ते में चार विश्रामगृह है।

सबसे ऊंचा डुबकी वाला झरना

गरमी के दिनों में इस वॉटरफॉल का जल क्षीण हो जाता है और वर्षा में जल की अधिकता के कारण गढ्ढे का समस्त क्षेत्र घने अभेद्य कुहरे से ढका रहता है। इस स्थान पर महाराष्ट्र और कर्नाटक दोनों राज्यों द्वारा जलशक्ति से विद्युत उत्पादन के बड़े बड़े संयंत्र स्थापित किए गए हैं।

यह दूसरा सबसे ऊंचा डुबकी वाला झरना है। भारत में। यह एक खंडित जलप्रपात है जो वर्षा पर निर्भर करता है और मौसम एक डुबकी जलप्रपात बन जाता है। फॉल्स पर्यटकों के लिए प्रमुख आकर्षण हैं और फ्री-फॉलिंग झरनों की सूची में 36 वें स्थान पर हैं, कुल ऊंचाई से झरनों की सूची में दुनिया में 490 वां, जलप्रपात डेटाबेस द्वारा विश्व में एकल-बूंद झरनों की सूची में 128 वां स्थान है।

यह भी पढ़ेछोटी सी झलक में Farhan Akhtar के तूफ़ानी बॉक्सिंग पंच दिखने के बाद अब इंतजार हुआ कठिन

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles