यूपी में मौसम हुआ गुलाबी, आसमान ने ओढ़ी धुंध की घूंघट, ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान

यूपी के कई जिलों में आसमान में छायी धूल और धुंध की घूंघट, ओलावृष्टि से फसलों को भारी नुकसान

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के कई जिलों में रविवार शाम से हो रही वर्षा से आसमान में छायी धूल और धुंध छंट गयी है और लोगों को गुलाबी ठंड का अहसास होने लगा है वहीं कुछ एक स्थानों पर हुयी ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान हुआ है।

विद्युत आपूर्ति बाधित

मथुरा, अलीगढ़, इटावा, फिरोजाबाद, कन्नौज, कानपुर, उन्नाव और लखनऊ समेत कई क्षेत्रों में गरज चमक के साथ वर्षा हुयी। इस दौरान मथुरा समेत कुछ एक स्थानो पर ओलावृष्टि भी हुयी। तेज रफ्तार हवाओं के साथ हुयी बारिश से कई पेड़ गिर पड़े जिससे विद्युत आपूर्ति बाधित हो गयी।

वायु गुणवत्ता सूचकांक

बिजली गुल होने से सोमवार सुबह कई इलाकों में पानी की आपूर्ति बाधित हुई और लोगों को पानी के लिये तरसना पड़ा। मौसम विभाग के अनुसार मौसम में अचानक हुआ बदलाव ‘पश्चिमी विक्षोभ’ के सक्रिय होने से हुआ है। वर्षा के चलते वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) में सुधार दर्ज किया जा रहा है। फेफड़ों को नुकसान पहुंचाने वाले महीन धूल और मिट्टी के कण वर्षा के पानी में घुल मिल गये।

ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान

बेमौसम वर्षा और ओलावृष्टि से फसलों को नुकसान हुआ है। खेतों में पानी भरने से साग सब्जियों को भी नुकसान पहुंचा है जिसका असर जल्द ही बाजार में दिखने की संभावना है।

दिल्ली (एनसीआर) में वायु गुणवत्ता सूचकांक

दिल्ली (एनसीआर) गाजियाबाद, नोएडा, ग्रेटर नोएडा, फरीदाबाद और गुड़गांव में रविवार को वायु गुणवत्ता ‘गंभीर श्रेणी’ में दर्ज की गई है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) द्वारा उपलब्ध कराए गए वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) के अनुसार दिल्ली के निकट पांच शहरों की हवा में प्रदूषण कारक तत्वों का पीएम 2.5 और पीएम 10 की मात्रा भी अधिक बनी रही।

यह भी पढ़े:हिमाचल प्रदेश में रेलिंग तोड़कर नदी में गिरी पिकअप, बिहार के सात मजदूरों की मौत

यह भी पढ़े:राष्ट्रीय प्रेस दिवस: सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने दी शुभकामनाएं

Related Articles