सुहागरात के दिन बीवी ने किया इनकार…

multi-cultural-weddings-indian-bride-getting-ready-gold-red.original

झांसी। चाहे लड़का हो या लड़की सभी को शादी की पहली रात का बेताबी से इंतजार रहता है। हर लड़का यह मानकर चलता है कि शादी के बाद वह दुल्हन के जीवन में आने वाला या उसे छूने वाला प्रथम पुरुष है। इसी तरह से लड़की भी ये सोचकर चलती है कि वह दूल्हे के जीवन में प्रवेश करने वाली पहली लड़की हो। लेकिन अगर लड़की सुहागरात की रात अपना शरीर छूने देने की इजाजत देने से मना कर दे तो क्या होगा। ऐसा ही कुछ हुआ उत्तर प्रदेश के इस जिले में फिर क्या हुआ आइये बताते हैं।

विवाहिता ने सुहागरात को अपने पति के साथ शारीरिक संबंध बनाने से सिर्फ इस कारण मना कर दिया कि पति उसे बेहद अजीब तरीके से छूता है, जोकि उसे अच्‍छा नहीं लगता है।

फिलहाल, शादी को एक पखवारा बीत चुका है, लेकिन दोनों के बीच आज तक कोई संबंध नहीं बना है। विवाहिता का कहना है, परिवार अच्‍छा है, लोग अच्‍छे हैं, लेकिन पति का छूना मंजूर नहीं। वहीं, पति का कहना है कि छूने की कोशिश करता हूं, तो वह भड़क जाती है। मैं हमेशा से ही एक ऐसी लड़की से शादी करना चाहता था, जिसके मां बाप न हो। इसलिए ही मैंने अनाथालय की युवती से शादी की।

मामला झांसी के बड़ा बाजार का है। यहां निवासी जैन परिवार के युवक ने भोपाल के अनाथालय में रहने वाली एक लड़की से शादी की है। शादी अनाथालय प्रशासन और युवती की सहमति से 16 दिसंबर 2015 में हुई थी।

भोपाल से शादी कर घर लौटे युवक को सुहागरात के ही दिन विवाहिता ने झटका दे दिया। उसने युवक के साथ शारीरिक संबंध बनाने के लिए मना कर दिया। उसका कहना है, संबंध बनाने से मना करने के पीछे कोई और वजह नहीं है। बस वो मुझे बड़ी अजीब तरह से छूते हैं।

पति की माने तो वो पहले हैरान जरूर हुआ, लेकिन उसे लगा कि चीजें समय के साथ ठीक हो जाएंगी। शादी के पांच दिन बीत जाने के बाद भी पत्‍नी से उसे छूने नहीं दिया। इसको लेकर दोनों के बीच कई बार कहासुनी भी हो चुकी है। युवक का कहना है कि पत्‍नी को और किसी से कोई परेशानी नहीं है, लेकिन जब वह उसके पास जाता है, उसे छूने की कोशिश करता है तो वह भड़क जाती है।

मिली जानकारी के अनुसार, जिद पर अड़ी विवाहिता एक दिन तो परेशान होकर घर से भागकर स्‍टेशन पहुंच गई थी। जहां रेलवे पुलिस ने संदिग्‍ध समझते हुए उसे पकड़ लिया। फिलहाल, मामला पुलिस तक पहुंच गया है। सभी विवाहिता को समझाने की कोशिश कर रहे हैं। भोपाल के अनाथालय प्रबंधन को भी सूचित कर दिया गया है, क्‍योंकि युवती बचपन से अनाथालय में ही रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button