… तो ये है पुरस्कार विजेता निर्देशक अनंत गुप्ता की प्रोडक्शन वेंचर को आगे बढ़ाने की योजना

नई दिल्ली: दिग्गज कंपनियों को क्लाइंट्स बनाने वाले पुरस्कार विजेता निर्देशक अनंत गुप्ता का लक्ष्य प्रोडक्शन वेंचर ‘ए न्यू डाइमेंशन’ के विस्तार का है। दिल्ली के युवा, ऊर्र्जा से भरपूर फिल्म निर्माता और क्रिएटिव बिजनेसमैन अनंत गुप्ता अपने छोटे से करियर में अपने शानदार काम के लिए जाने जा रहे हैं। लघु फिल्म निर्माण से लेकर उन्होंने कोल्ड ड्रिंक बनाने वाली दिग्गज कंपनी पेप्सी के साथ भी काम किया है।

फर्म खोलने के पहले साल से ही भारतीय रेलवे के साथ भी काम कर रहे हैं। अब वह अपनी कंपनी ‘ए न्यू डाइमेंशन’ का विस्तार करने की योजना बना रहे हैं। अनंत अभी 30 वर्ष के हैं, लेकिन दूरदर्शी हैं और उनका लक्ष्य अपने वेंचर को नई ऊंचाइयों पर पहुंचाना है। भारत के पूर्व राष्ट्रपति डॉ.अब्दुल कलाम ने एक बार कहा था,”युवाओं को नौकरी की तलाश करने के बजाय खुद नौकरी पैदा करने और दूसरों को नौकरियां देने में सक्षम बनना चाहिए।”

इसी बात पर अमल करते हुए अनंत क्रिएटिव युवाओं को अपने साथ जोड़ रहे हैं और अब यह नौजवान निर्माता विज्ञापन और फिल्म निर्माण के क्षेत्र में लंबी छलांग मार रहा है। अनंत ने पूरे मेहनत और निष्ठा से काम करते हुए सभी चुनौतियों को पार कर ‘ए न्यू डाइमेंशन’ नाम की कंपनी बनाई, जो आज सभी कारोबारी संगठनों की चहेती कंपनी बन रही है।

अनंत ने अपना करियर मीडिया मॉनिटिरंग एजेंसी में काम करना शुरू कर दिया था, जिसका क्लाइंट्स नाको था। वह एड्स के बारे में लेख पढ़ते रहते हैं और उन्होंने उन कठिनाइयों और चुनौतियों के प्रति अपनी अच्छी समझ बनाई थी, जो एड्स पीड़ित झेलते हैं। इसलिए 20 वर्ष की उम्र में उन्होंने शॉर्ट फिल्म ‘अस एंड देम’ बनाई।

कम उम्र में अनंत के शानदार काम की सभी मशहूर शख्सियतों ने न केवल भारत में काफी तारीफ की, बल्कि उनके काम को केन्या और पोर्ट ऑफ स्पेन में भी काफी सराहा गया। उनके काम की बीबीसी के पूर्व कंट्री हेड ने भी काफी प्रशंसा की। ये फिल्म वहां इतनी पसंद की गई कि इसे यूएन और वल्र्ड बैंक ने भी अपने पास रखा। चारों तरफ से मिली सराहना एक युवा फिल्मकार को अपना बेहतरीन काम लगातार जारी रखने के लिए प्रोत्साहित किया।
अनंत ने मास कम्युनिकेशन में मास्टर्स डिग्री ली है। अपने कॉलेज के दिनों में उन्होंने दूरदर्शन के साथ ट्रेनिंग ली थी। अनंत ने बाद में एक प्रमुख एडवरटाइजिंग एजेंसी ओगिल्वी के साथ भी काम किया।

अनंत ने 2011 में अपनी प्रोडक्शन कंपनी ‘ए न्यू डाइमेंशन’ की स्थापना की। शुरुआत में पेप्सी, एनआईआईटी और जीएमआर उनके क्लाइंट्स बने। अनंत ने यह कंपनी अपने दोस्तों के साथ मिलकर खोली थी। दो दिन के टाइट शेड्यूल में उन्होंने बेहतरीन और शानदार क्वॉलिटी का काम अपने क्लाइंट्स को देना शुरू किया, जिससे पेप्सी जैसी कंपनियां काफी प्रभावित हुईं। उनकी फर्म ने जीएमआरए इंडियन रेलवे और सीबीएसई जैसे निजी और सार्वजनिक क्षेत्र के दिग्गज उपक्रमों के लिए शानदार कार्य किया।

‘ए न्यू डाइमेंशन’ एक फुल सर्विस फिल्म प्रोडक्शन हाउस है, जो फिल्म और विडियो निर्माण की सभी जरूरतों को पूरा करता है। यहां पर टीवी कॉमर्शियल, डिजिटल फिल्म, कॉरपोरेट फिल्म, ए.वी. इंटरनल फिल्म, ई-लर्निग फिल्म, ट्रेनिंग फिल्म, मोटिवेशनल फिल्म और डॉक्युमेंट्री फिल्मों का निर्माण किया जाता है।

अनंत के काम को 2012 और 2013 में जीएमआर/डीआईएएल और पहले आईजीआई, अवॉर्डस के लिए नामांकित किया गया था। छात्रों को वे एक ही संदेश देते हैं कि ईश्वर ने हर किसी को प्रतिभावान बनाया है इसलिए अपनी प्रतिभा को कभी भी कमतर मत आंको और अपने आत्मविश्वास को हमेशा मजबूत रखो। सपने देखने और उन्हें पूरा करने की ताकत और काबलियत अगर किसी में है तो उसे आसमान छूने से कोई नहीं रोक सकता।

Related Articles