IPL
IPL

Tajmahal के शहर में हैं और भी ऐतिहासिक इमारतें, लगातार दूसरी वर्ष बंद है World Heritage Day पर ये स्मारक

विश्व धरोहरों (World Heritage) के शहर में अन्य धरोहरें अनदेखा हो रही हैं। ताजमहल, आगरा किला और फतेहपुर सीकरी तक ही देखने वालो के ले सिमट कर रह गई है।

नई दिल्ली: विश्व धरोहरों (World Heritage) के शहर में अन्य धरोहरें अनदेखा हो रही हैं। ताजमहल, आगरा किला और फतेहपुर सीकरी तक ही देखने वालो के ले सिमट कर रह गई है। विश्व धरोहर स्थलोंया का सही ध्यान नहीं दिया जा रहा है। इसके साथ इन स्थानों का प्रचार प्रसार भी नही होता जिसके कारण यहां पर्यटक नहीं पहुंच पाते है। सरकार के स्तर से भी कोई प्रयास वर्षों से नहीं किया गया है।

आगरा में है ये भी स्मारक

आगरा में तीन विश्व धरोहर स्थल ताजमहल, आगरा किला और फतेहपुर सीकरी हैं। यूनेस्को ने वर्ष 1983 में ताजमहल व आगरा किला और वर्ष 1987 में फतेहपुर सीकरी को विश्व धरोहर स्थल घोषित किया था। आगरा में इन तीनों स्मारकों के अलावा सिकंदरा, एत्माद्दौला, मेहताब बाग, राम बाग, मरियम टॉम्ब जैसे कई स्मारक हैं। कोरेाना काल में सभी स्मारक बंद हैं, लेकिन ताजमहल, आगरा किला और फतेहपुर सीकरी के इर्द-गिर्द ही आगरा का पर्यटन सिमटकर रह गया है।

World Heritage Day पर लगातार दूसरी बार बंद

सिकंदरा, एत्माद्दौला, मेहताब बाग, राम बाग, मरियम टाम्ब पर कोरोना काल से पहले इन स्तलों पर पर्यटक न के बराबर ही पहुंचते है। जहा तक इन स्थलों के बारे में लोगो को ज्यादा जानकारी भी नही है। इसकी वजह इन स्मारकों का अच्छी तरह से प्रचार-प्रसार किया जाना चाहिए। ताकी लोग इनेहे उपेक्षित न करें। क्योकी यह भी हमारे देश का धरोहर ही है लेकिन यह उपेक्षित हो रहा है। जबकि सिकंदरा और एत्माद्दौला तो विश्व धरोहर घोषित होने की कतार में वर्षों से हैं।

Inside Story Of Taj Mahal - जब 1971 में 15 दिनों के लिए हरे कपड़े से ढका  गया था ताजमहल | Patrika News

पिछले साल भी ता लॉकडाउन

एएसआइ भी विश्व धरोहर स्थलों की अपेक्षा अन्य स्मारकों पर कम ध्यान देता है। यही वजह है कि सिकंदरा लंबे वक्त से संरक्षण की राह देख रहा है। वर्ल्ड हेरिटेज डे प्रतिवर्ष 18 अप्रैल को मनाया जाता है। कोरोना काल से पहले वर्ल्ड हेरिटेज डे पर स्मारकों में पर्यटकों को नि:शुल्क प्रवेश दिया जाता था। पिछले वर्ष लॉकडाउन के चलते स्मारक 18 अप्रैल को बंद रहे थे। इस वर्ष स्मारक 15 मई तक के लिए बंद कर दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें

विश्व धरोहर स्थल होने से ताजमहल, आगरा किला और फतेहपुर सीकरी अधिक संख्या में पर्यटक आते हैं। एएसआइ को अन्य स्मारकों के संरक्षण पर भी ध्यान देना चाहिए, जिससे वो भविष्य में भी सुरक्षित बने रहें।

Related Articles

Back to top button