इस हेलमेट की बिक्री पर देश में लगा BAN, नियम तोड़ने पर लगेगा तगड़ा जुर्माना

नई दिल्ली: भारत में बनाये गए बिना ISI मार्क वाले नकली और खराब क्वालिटी के हेलमेट की बिक्री पर BAN लगा दिया गया है. अब 1 जून से केवल ओरिजनल ब्रांडेड हेलमेट की ही बिक्री हो सकेगी. पिछले साल 26 नवंबर को रोड एंड ट्रांसपोर्ट मिनिस्ट्री ने एक अधिसूचना में बताया था कि देश में वाहन चालकों की सुरक्षा को बेहतर बनाने के लिए सरकार नए नियम लागू कर रही है. इनके तहत अब बिना ISI मार्क वाले हेलमेटों की खरीद-बिक्री गैर कानूनी होगा. इसे अब BAN कर दिया गया है. इन नए नियमों को अब भारत में लागू कर दिया गया है.

ऐसे में अगर आप बिना ISI Mark BIS द्वारा बिना प्रमाणित हेलमेट को बेचते हुए पकडे जाते हैं तो आपको कम से कम 1 साल की जेल की सजा और 1 लाख से 5 लाख रुपए का जुर्माना देने पड़ सकता है. यह नियम गैर ISI मार्क हेलमेट के निर्माता, इम्पोर्टर और विक्रेता पर समान रूप से लागू होगा. जानकारी के लिए बता दें कि हेलमेटों को ISI सेफ्टी मार्क देने का काम ब्योरो ऑफ इंडियन स्टैंडर्ड्स यानी BIS करती है. BIS द्वारा निर्धारित किए गए स्टैंडर्ड के अनुसार सभी हेलमेट बनाने वाली कंपनियों को सर्टिफिकेशन लेना पड़ता है.

क्यों लाया जा रहा है नया नियम?

रोड सेफ्टी के इस नए नियम को लागू करने का पूरा मकसद सड़क किनारे बिकने वाले बेकार और घटिया स्टैण्डर्ड वाले हेलमेट (बिना ISI मार्क) की बिक्री पर रोक लगाना है. दरअसल, सड़क हादसे के दौरान ये बिना ISI मार्क वाले लोकल हेलमेट किसी भी तरफ से वाहन चलाने वाले के सिर को बचा नहीं सकते.

ये भी पढ़ें : सबसे खतरनाक है भारत का यह Bridge, इस पुल की देखभाल एक चुनौती है

 

Related Articles

Back to top button