अस्पताल के चारों तरफ है गंदगी का अंबार, कैसे होगा कोरोना का उपचार

देश में पहले कोरोना की मार से बेहाल लोग उपर से ब्लैक फंगस और व्हाइट फंगस जैसे संक्रम का डर अलग से सता रहा है।

पटना: देश में पहले कोरोना की मार से बेहाल लोग उपर से ब्लैक फंगस और व्हाइट फंगस जैसे संक्रम का डर अलग से सता रहा है। ऐसी महामारी के समय में बिहार की एक अस्पताल की बदहाली को देखकर आपको रोना आ जाएगा। हम बात कर रहे हैं दरभंगा मेडिकल कॉलेज और अस्पताल ( DMCH ) की, जो खुद अपनी बदहाली की दास्तां बयां कर रहा है। पिछले दिनों हुई बारिश ने डीएमसीएच की पोल खोलकर रख दी है।

अस्पताल के चारों के तरफ गंदगी ही गंदगी फैला हुआ है अस्पताल में कार्यरत एक नर्स कहती हैं, ”मैं यहां 26 साल से काम कर रही हूं। बारिश के बाद सड़कें जलमग्न हो जाती हैं और हमें डीएमसीएच पहुंचने के लिए पैदल चलना पड़ता है.”

अस्पताल  का परिसर बारिश की वजह से जलमग्न हो गया है और गंदगी इतनी पसरी हुई है कि मरीज क्या परिसर में सूअर घूम रहे हैं। कीचड़  और गंदगी के कारण मेडिकल कॉलेज के आसपास का इलाका इतना प्रदूषित है कि जिस बीमारी ना हो वो भी बीमार हो जाए।

बता दें कि मेडिकल सुपरिटेंडेंट ने कहा है कि डीएमसीएच परिसर सीमा रहित है। इसका कैंपस जल्द ही 100 साल पूरे कर लेगा और उसी के अनुसार बनाया गया था। हम मरीजों के इलाज और उनकी जान बचाने के लिए अपना पसीना और खून बहाते हैं। प्रशासन नई सुविधाओं पर काम कर रहा है। दवा, ऑक्सीजन की पर्याप्त आपूर्ति है।

यह भी पढ़ें: इस लापरवाही से हो सकता है ब्लैक फंगस, इससे बचने के लिए इन बातों का रखें ध्यान

Related Articles