सार्वजनिक जीवन में पारदर्शिता व जवाबदेही होनी चाहिए : वेंकैया नायडू

0

नई दिल्ली। उपराष्ट्रपति व राज्यसभा के सभापति एम.वेंकैया नायडू ने रविवार को कहा कि किताब लिखने का विचार सरकार के कार्यो में पारदर्शिता दर्शाने का था। नायडू ने अपनी किताब ‘मूविंग ऑन मूविंग फॉरवर्ड : ए ईयर इन ऑफिस’ के विमोचन के मौके पर कहा, “इस किताब का विचार लोगों को एक रिपोर्ट प्रस्तुत करना था क्योंकि मेरा मानना है कि सार्वजनिक जीवन में पारदर्शिता व जवाबदेही होनी चाहिए।”
इस किताब का विमोचन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने पूर्व प्रधानमंत्री एच.डी देवेगौड़ा व मनमोहन सिंह व लोकसभा की अध्यक्ष सुमित्रा महाजन व केंद्रीय मंत्री अरुण जेटली व अन्य की मौजूदगी में किया। नायडू ने कृषि क्षेत्र पर ज्यादा ध्यान देने का आग्रह किया और कहा कि आयातित उत्पादों पर निर्भर होने के बजाय लोगों को अपने देश की मिट्टी में उत्पन्न किए उत्पादों को अपनाना चाहिए।

loading...
शेयर करें