देशभर में पेट्रोल-डीजल की महंगाई पर मचा हाहाकार, वित्त मंत्री दिए बड़े संकेत

नई दिल्ली: देश भर के लोग पेट्रोल-डीजल के बढ़ते दामों को लेकर त्राहि-त्राहि मचा रहे है। हर कोई अपने वाहनों में महंगा फ्यूल डालकर हायतौबा कर रहा है और रोज महंगाई बढ़ती जा रही है। आम जनता सहित विपक्षी दल लगातार सरकार को घेरे हुए है और ईंधन की कीमतों में कटौती करने की मांग कर रही है। इस बीच वित्त मंत्री से पेट्रोल डीजल की बढ़ती महंगाई को लेकर बड़ा बयान दिया है

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitaraman) ने सोमवार को अपने बयान में साफ तौर पर ईंधन की कीमतों में कमी नहीं करने का कारण बताया है। साथ ही ईंधन पर उत्पाद शुल्क में कोई कटौती नहीं करने की बात कही।’ उन्होंने कहा, ‘यूपीए सरकार ने 1.44 लाख करोड़ रुपये के तेल बांड जारी कर ईंधन की कीमतों में कमी की थी। मैं पिछली यूपीए सरकार द्वारा खेली गई चालबाजी से नहीं जीत सकती। ऑयल बॉन्ड की वजह से हमारी सरकार पर आज लोड ज्यादा हो गया है, इसलिए हम पेट्रोल-डीजल के दाम कम नहीं कर पा रहे।’

वित्त मंत्री ने कहा, ‘लोगों का चिंतित होना सही है। जब तक केंद्र और राज्य कोई रास्ता नहीं निकालते, इसका कोई समाधान संभव नहीं है।’

https://twitter.com/ANI/status/1427240461685575684?t=lpK02WkG_YH1BonRU9VE0Q&s=19

उन्होंने कहा, ‘हमें अभी भी 2026 तक 37,000 करोड़ रुपये का ब्याज देना होगा। ब्याज भुगतान के बावजूद, 1.30 लाख करोड़ रुपये से अधिक का मूलधन अभी भी लंबित है। अगर मुझ पर तेल बांड का बोझ नहीं होता तो मैं ईंधन पर उत्पाद शुल्क कम करने की स्थिति में होते।’

Related Articles