यूपी में सड़क निर्माण व सीमेंट उद्योग पर होगा जोर, पहली तिमाही में BOBका शुद्ध लाभ बढ़ा

लखनऊ: सार्वजनिक क्षेत्र के प्रमुख बैंकों में से एक बैंक आफ बड़ौदा को (BOB) चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में 1209 करोड़ रूपए का शुद्ध लाभ हुआ है। बैंक को साल दर साल के आधार पर 15.8 फीसदी की वृद्धि के साथ शुद्ध ब्याज आय 7892 करोड़ रुपए की रही है।

शनिवार को बैंक आफ बड़ौदा (BOB) के वित्तीय वर्ष 2021-22 की पहली तिमाही के परिणामों का ऐलान करते हुए प्रबंध निदेशक एवं मुख्य कार्यकारी अधिकारी संजीव चड्ढा ने बताया कि इस दौरान बैंक का एनपीए 9.39 फीसदी से घटकर 8.86 फीसदी पहुंच गया है।

पूंछे गए एक सवाल के जवाब में

उत्तर प्रदेश के संदर्भ में पूंछे गए एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि बैंक आफ बड़ौदा का सबसे अधिक जोर इस प्रदेश में है जहां इसकी सबसे अधिक शाखाएं हैं। बैंक आफ बड़ौदा यूपी में लीड बैंक है और इसका जोर यहां की प्रमुख परियोजनाओं के वित्त पोषण पर है। उत्तर प्रदेश में हाल के वर्षों में सड़क निर्माण के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य हो रहा है। बैंक आफ बड़ौदा उत्तर प्रदेश की सड़क निर्माण परियोजनाओं के वित्त पोषण में भागीदारी कर रहा है।

बैंक आफ बड़ौदा उत्तर प्रदेश में सड़क

आने वाले समय में बैंक आफ बड़ौदा उत्तर प्रदेश में सड़क निर्माण परियोजनाओं के साथ ही सीमेंट उद्योग में भी वित्तीय सहायता करेगा। बैंक इसके लिए संभावित निवेशकों व निर्माण कंपनियों के संपर्क में है।
वित्त वर्ष 2021-23 की पहली तिमाही में बैंक आफ बड़ौदा के घरेलू जमा राशियों में साल दर साल आधार पर 3 फीसदी की वृद्धि हुई है।

क़र्ज़ में कमी के कारण घरेलू अग्रिम

कारपोरेट क़र्ज़ में कमी के कारण घरेलू अग्रिम में 2.3 फीसदी की कमी आई है। इस अवधि में बैंक का पूंजी पर्याप्तता अनुपात बढ़कर 15.4 फीसदी हो गया है। आटो सेक्टर को दिए जाने वाले कर्ज में 25 प्रतिशत जबकि वैयक्तिक ऋण में 19.5 फीसदी व गोल्ड लोन में 37.7 फीसदी की वृद्धि हुई है।

Related Articles