अब नहीं आएगी यूपी में सपा: मौर्या

images

लखनऊ। बहुजन समाज पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव और विधानसभा में नेता विरोधी दल स्वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि सपा में आपसी कलह जगजाहिर हो गइ्र है। जिला पंचायत अध्‍यक्ष चुनाव में प्रत्‍याशियों की बदली इसका संकेत है। स्‍वामी प्रसाद मौर्या ने यूपी सरकार पर दलितों की अनदेखी करने का भी आरोप लगाया। कहा कि 2017 में सपा सरकार की विदाई तय है।

मौर्या ने मंगलवार को कहा कि सपा सरकार का असली चेहरा सबके सामने आ गया है। जिला पंचायत अध्यक्ष के लिए चुनाव में रोज.रोज प्रत्याशी बदले जा रहे हैं।

पांच मुख्यमंत्री सरकार चला रहे हैं

स्‍वामी प्रसाद मौर्या ने कहा कि सपा सरकार में पांच मुख्‍यमंत्री हैं। वही सरकार चला रहे हैं। यही वजह है कि परिवार की कलह अब सामने आने लगी है। उन्होंने कहा कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का सहारा लेकर गलत तरीके से दलित अधिकारियों व कर्मचारियों को रिवर्ट किया जा रहा है। जो मेरिट व वरिष्ठता के आधार पर प्रोन्नत हुए हैं उन्हें भी रिवर्ट किया जा रहा है। मैंने इस बारे में मुख्यमंत्री व मुख्य सचिव से कई बार बात भी की लेकिन कोई नतीजा नहीं निकला।

पढ़ें: 2017 में अकेले दम पर चुनाव लड़ेगी बसपा

अल्‍पसंख्‍यक विरोधी हैं मुलायम सिंह

स्‍वामी प्रसाद मौर्या ने सपा मुखिया मुलायम सिंह यादव पर भी निशाना साधा। कहा कि सपा सुप्रीमों मुलायम सिंह यादव अल्पसंख्यक विरोधी हैं और वे मुसलमानों के रहनुमा होने का दम भरते हैं लेकिन जब औवैसी ने यूपी में रैली करने के लिए अनुमति मांगी तो नहीं दी क्योंकि वे मुसलमानों के नाम पर सिर्फ राजनीति करना चाहते हैं उनका भला नहीं चाहते।

सपा और भाजपा एक साथ हैं

उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनावों के दौरान सपा और भाजपा ने मिल कर साम्प्रदायिक उन्माद फैलाया। इनकी यही योजना आने वाले विधानसभा चुनावों की भी है। लेकिन ये अपने मनसूबों में कामयाब नहीं होंगे। यूपी में देखें तो कानून व्‍यवस्‍था के नाम पर कुछ नहीं बचा। बदमाश बेखौफ हैं। किसानों की स्थिति आज बुरेहाल है। ऐसी सरकार की विदाई तय है।

 

 

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button