ये 32 नाम करेंगे आपके सारे कष्ट दूर, नटवर करेंगे बेड़ा पार

0

शास्त्रों के मुताबिक श्री राधा जी की अत्यधिक महिमा है क्योंकि वह श्रीकृष्ण की आत्मा हैं और अपनी आत्मा में रमण करने के कारण ही श्रीकृष्ण आत्माराम हैं। श्री राधा कृष्ण का नित्य मिलन ही श्री राधा का रहस्य है तथा वही श्री राधा रानी का हर क्षण मिलन एवं दर्शन है।नटवर नागर कहलाने वाले श्रीकृष्ण समस्त संसार का संचालन राधा रानी की प्रेरणा से करते हैं क्योंकि श्री राधारानी श्री कृष्ण की प्रेरणा हैं। राधा जी का नाम कृष्ण से भी पहले लिया जाता है।

राधा नाम के जाप से श्री कृष्ण प्रसन्न होते हैं और भक्तों पर दया करते हैं। राधा जी का श्री कृष्ण के लिए प्रेम नि:स्वार्थ था तथा उसके लिए वे किसी भी तरह का त्याग करने को तैयार थीं। श्री राधा रानी के 32 नामों का जाप करने से न सिर्फ लाइफ में बल्कि परलोक में भी व्यक्ति हर तरह का सुख भोगता है।

मृदुल भाषिणी राधा ! राधा !!

सौंदर्य राषिणी राधा ! राधा !!

परम् पुनीता राधा ! राधा !!

नित्य नवनीता राधा ! राधा !!

रास विलासिनी राधा ! राधा !!

दिव्य सुवासिनी राधा ! राधा !!

नवल किशोरी राधा ! राधा !!

अति ही भोरी राधा ! राधा !!

कंचनवर्णी राधा ! राधा !!

नित्य सुखकरणी राधा ! राधा !!

सुभग भामिनी राधा ! राधा !!

जगत स्वामिनी राधा ! राधा !!

कृष्ण आनन्दिनी राधा ! राधा !!

आनंद कन्दिनी राधा ! राधा !!

प्रेम मूर्ति राधा ! राधा !!

रस आपूर्ति राधा ! राधा !!

नवल ब्रजेश्वरी राधा ! राधा !!

नित्य रासेश्वरी राधा ! राधा !!

कोमल अंगिनी राधा ! राधा !!

कृष्ण संगिनी राधा ! राधा !!

कृपा वर्षिणी राधा ! राधा !!

परम् हर्षिणी राधा ! राधा !!

सिंधु स्वरूपा राधा ! राधा !!

परम् अनूपा राधा ! राधा !!

परम् हितकारी राधा ! राधा !!

कृष्ण सुखकारी राधा ! राधा !!

निकुंज स्वामिनी राधा ! राधा !!

नवल भामिनी राधा ! राधा !!

रास रासेश्वरी राधा ! राधा !!

स्वयं परमेश्वरी राधा ! राधा !!

सकल गुणीता राधा ! राधा !!

रसिकिनी पुनीता राधा ! राधा !!

loading...
शेयर करें