भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान और महिला टीम की कप्तान, दोनों के लिए ये दिन हैं महत्वपूर्ण

भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह और महिला टीम की कप्तान रानी का कहना है कि ओलंपिक में अब 200 दिन का समय बाकी है और यह 200 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं।

नई दिल्ली: भारतीय पुरुष हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत सिंह और महिला टीम की कप्तान रानी का कहना है कि ओलंपिक में अब 200 दिन का समय बाकी है और यह 200 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। ओलंपिक का आयोजन 2020 में होना था लेकिन कोरोना वायरस के कारण इसे 2021 तक के लिए स्थगित कर दिया गया था। टोक्यो ओलंपिक का आयोजन इस साल जुलाई-अगस्त में होगा।

मनप्रीत ने कहा, “पिछले साल जो सबसे बड़ी सीख मिली कि हमें बाहरी कारकों के प्रभाव से बचना है जो हमारे लक्ष्य के आगे नहीं आए। कुछ अनिश्चितिताएं हैं लेकिन हमें सिर्फ इस बारे में चिंता करना है जो हमारे नियंत्रण में है और अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने के लिए मेहनत करनी है। इस साल ओलंपिक खेलों के लिए कई चुनौतियां हैं और हमें इसके लिए मानसिक रुप से तैयार होना होगा। अगले 200 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। टोक्यो में पदक हासिल करने के लिए टीम के हर सदस्य को ट्रेनिंग और मुकाबले में अपना 100 फीसदी देना होगा।”

 हॉकी टीम के कप्तान मनप्रीत का कहना

राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार प्राप्त कर चुकीं रानी ने कहा, “पिछले राष्ट्रीय शिविर जो चार महीने तक चला उसमें हमने अपनी पुरानी लय हासिल करने के लिए काफी मेहनत की। अगले कुछ महीनों में हम अपने खेल के सभी पहलुओं में सुधार लाने पर ध्यान केंद्रित करेंगे। इस साल होने वाले मुकाबलों से हमें पता चलेगा कि हम कहां खड़े हैं और हमें किस विभाग में सुधार की जरुरत है। यहां से हम सभी को अपना सर्वश्रेष्ठ देने के लिए मेहनत करनी होगी।”

“मेरे सहित कोई भी खिलाड़ी के टीम में शामिल होने की कोई गारंटी नहीं है और हमें हर मैच तथा हर सत्र में खुद को साबित करना होगा जिससे हम टीम में स्थान पक्का कर सकें। हमारे पास टीम में कई अच्छे युवा खिलाड़ी हैं जो मेरे ख्याल से टीम में जगह बना लेंगे। हमें अपने मानसिक फिटनेस पर भी ध्यान केंद्रित करना होगा और चोटिल होने से बचना होगा।”

यह भी पढ़े:गोवा (Goa) कांग्रेस के बागी विधायकों के मामले में सुनवाई टली

Related Articles

Back to top button