आपका ध्यान आकर्षित कर लेंगी गंगटोक की ये मनोरम वादियाँ

0

अगर आप घुमाने का प्लान बना रहे है। तो आपके लिए है कुछ खास जहाँ पर आप जाने के लिए उत्सुक हो रहे होंगे। अगर आपको यात्रायें करने का शौक है तो आप गंगटोक की मनोरम वादियों में जा सकते है। जहाँ पर आपको सुकून मिलेगा। इन यात्राओं के जरिए आप न सिर्फ नई-नई जगहें देखते, बल्कि नए रीति-रिवाज और परंपराओं से भी परिचित होते हैं। यात्राएं, आपके मन में भरे अवसादों को दूर करती हैं और जब आप यात्राओं से लौटते हैं तो खुद को पहले से ज्यादा तरोताजा महसूस करते हैं। आपके भीतर, नई ऊर्जा बहने लगती है। गंगटोक, सिक्किम की राजधानी है। यह बहुत ही खूबसूरत ट्रैवलिंग डेस्टिनेशन है। यहां से आपको कंचनजंगा का शानदार दृश्य देखने को मिलेगा। यह सिक्किम का सबसे बड़ा शहर भी है। गंगटोक में आपको घूमने और देखने के लिए बहुत से चीजें मिलेंगी। गंगटोक घूमने से पहले यहां के इतिहास के बारे में जान लीजिए।गंगटोक, 1840 में बौद्ध तीर्थस्थल बना। यहां एनची मठ का निर्माण हुआ। यह शहर, तिब्बत और ब्रिटिश भारत के बीच व्यापार का मुख्य केंद्र रहा। सिक्किम का यह सबसे बड़ा शहर शिवालिक पहाड़ियों के ऊपर 437 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। साल 1947 में भारत के आजाद होने के बाद गंगटोक एक स्वतंत्र राजशाही बना रहा। इस शहर पर राजा चोग्याल और भारत के तत्कालीन प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू के बीच एक राजशाही शासन का पालन करने के लिए एक संधि पर हस्ताक्षर किये गए। अगर आप गंगटोक घूमने की सोच रहे हैं तो आप एक जगह बिल्कुल मिस नहीं करना चाहेंगे। यह जगह है अंतर्राष्ट्रीय भारत-चीन सीमा की जिसके देखने के लिए आपको एक परमिट की आवश्यकता होती है जो आपको गंगटोक जाकर आसानी से मिल जाएगी। यहां पर आप त्सोंगमो झील भी देख सकते हैं। इस रास्ते पर आपको एक मंदिर भी मिलेगा जिसको यहां के स्थानीय लोगों द्वारा बहुत पवित्र माना जाता है। बता दें कि नाथुला पास- भारत-चीन सीमा पर सिर्फ भारतीय पर्यटकों को जाने की अनुमति होती है और विदेशियों को यहां जाने की परमिशन नहीं है। गंगटोक का दिल कहे जाने वाला एमजी रोड यहां आने वाले पर्यटकों द्वारा बहुत पसंद किया जाता है। एमजी रोड केंद्रीय शॉपिंग हब है, जहां आपको कई तरह की दुकानें, रेस्तरां और होटल सबकुछ मिलेगा। यहां आने वाले टूरिस्टों के लिए खरीदारी के लिए बेस्ट जगह है। आप यहां पर शॉपिंग के दौरान टहल सकते हैं व ब्रेचों पर बैठ सकते हैं। यहां सफाई और स्वच्छता पर बहुत ज्यादा ध्यान दिया जाता है। इस जगह पर केवल पैदल यात्री आते हैं। वाहनों को किसी तरह की अनुमति नहीं है। एमजी रोड गंगटोक फूड एंड कल्चर फेस्टिवल के नाम से बहुत ज्यादा लोकप्रिय है।

ताशी व्यू पॉइंट
इस जगह से आप बर्फ से ढके पहाड़ों के सुंदर नजारों का आनंद ले सकते हैं। ताशी व्यू पॉइंट पर्यटकों के लिए एक बेहद खास जगह है। यहां से आप हिमालय पर्वत की खूबसूरती को देख सकते हैं। ताशी व्यू पॉइंट मध्य गंगटोक से 8 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। इस जगह का निर्माण ताशी नामग्याल द्वारा किया गया था, जो 1914 और 1993 के बीच सिक्किम के राजा रहे थे। जिसकी वजह से इस जगह को उनका नाम मिला।गंगटोक का हनुमान टोक मंदिर बहुत प्रसिद्ध है, जिसका नाम हनुमान जी के नाम पर रखा गया है। इस मंदिर की देखभाल भारतीय सेना द्वारा की जाती है। इस मंदिर की सबसे खास बात यह है कि यह मंदिर 72,00 फीट की ऊंचाई पर स्थित है जो दुनिया की तीसरी सबसे ऊंची चोटी है। हनुमान टोक आने वाले पर्यटक इस जगह की सुंदरता का भरपूर आनंद लेते हैं। इस जगह का सूर्योदय का नजारा बेहद खास होता है।

loading...
शेयर करें