इन भारतीयों ने खाना पकाने की दुनिया में कमाया नाम,ये अवार्ड पाकर बनाई अलग पहचान

मिशेलिन अवार्ड तीन स्टार्स के रूप में पुरस्कृत किया जाता हैं। जिसकी रेटिंग 0-3 में होती हैं।

नई दिल्ली: खाना एक ऐसी चीज़ है जो कि परिवारों को एक साथ बांधता है। नए रिश्तों सहित कुछ सबसे मजबूत बंधन,अक्सर स्वादिष्ट खानों के साथ बनते हैं। अपने घर की रसोई हो या फिर पसंदीदा मिशेलिन स्टार रेस्टोरेंट।

जी हाँ हम बात कर रहे है मिशेलिन स्टार रेस्तरां की जो विश्व के कई देशो में स्थित है। और उनके मालिक है,यह इंडियन शेफ जिनके बारे में आज हम कुछ खास बाते जानेंगे।

मिशेलिन स्टार क्या है

मिशेलिन अवार्ड तीन स्टार्स के रूप में पुरस्कृत किया जाता हैं। जिसकी रेटिंग 0-3 में होती हैं। समीक्षक खाने की गुणवत्ता,उपयोग की गई तकनीक,व्यक्तित्व एवं स्थिरता को ध्यान में रखते हुए रेटिंग करता हैं। पर हां इन रेटिंग में वहां मौजूद शानदार एवं लुभावने फर्नीचर एवं अन्य आतंरिक चीजों का महत्व नहीं होता हैं।

  • 1 स्टार: अच्छा खाना एक अच्छी जगह जहां का स्वादिष्ट खाना खाने के साथ ही साथ खाने में स्थिरता भी हैं।
  • 2 स्टार: बहुत अच्छा खाना,जिसे परोसने के लिए अच्छे बर्तन का भी इस्तेमाल किया गया हो जोकि लुभावना हो।
  • 3 स्टार: बेहद स्वादिस्ट खाना जिसे आप हर दिन खाना चाहे साथ ही उसे ऐसे तरीके से परोसा जाए,जिसके आप क़ायल हो जाए। और उसमे इस्तेमाल किये गए बर्तन जिसमे आप हर रोज़ खाना चाहेंगे।

आपको बतादें कि मिशेलिन स्टार कि मिशेलीन कंपनी मुख्यता टायर का निर्माण करने वाली कंपनी हैं। इसी के तहत “मिशेलीन स्टार रेस्टोरेंट” उनके ब्रैंड का विज्ञापन करने का एक तरीका हैं। और इस कंपनी का स्टार किसी शेफ के लिए काफी महत्त्व रखता है।

मिशेलिन स्टार देने वालो ने अभी पूरी दुनिया को सम्मिलित नहीं किया है। भारत अभी उनके कार्य क्षेत्र से बाहर हैं। लेकिन भारत के बाहर भारत के रेस्टोरेंट को मिशेलिन स्टार मिलते है। भारत का खाना बेमिसाल हैं। जब भी भारत उन के क्षेत्र में आएगा तब उस के बहुत सारे रेसटोरेंट्स को मिशेलिन स्टार मिलेंगे।

भारत के वो शेफ जिन्हे मिशेलिन स्टार प्राप्त है 

1- विनीत भाटिया

विनीत भाटिया भारत के पहले शेफ हैं जिनको ‘मिशलिन अवार्ड’ से नवाजा गया है। साल 2001 में लंदन में बने रेस्टोरेंट ‘जायका’ में काम करते हुए इनको ये सम्मान दिया गया। विनीत भाटिया के बनाए कुजिन को ‘अवधी’ नाम से कैटेगराइज्ड किया गया था।

2- अल्फ्रेड प्रसाद

अल्फ्रेड प्रसाद भारत के सबसे युवा शेफ हैं जिनको मिशलिन अवार्ड दिया गया है। टैमरिंड रेस्टोरेंट में एक्जीक्यूटिव शेफ के तौर पर काम करते हुए अल्फ्रेड ने 2002 में ये स्टार पाया था।

3- अतुल कोचर

अतुल कोचर पहले शेफ हैं जिन्होंने अपने भारतीय खाने को कुजिन का तड़का दिया। 2001 में टैमरिंड,लंदन में काम करते हुए मिशलिन स्टार से नवाजा गया था।

4- करुणेश खन्ना

करुणेश खन्ना ने लंदन के रेस्टोरेंट अमाया में हेड शेफ के तौर पर 2004 से काम किया है। उनके खाने की खासियत कंटेम्परेरी इंडियन कुजिन है। इनको 2006 में मिशलिन स्टार अवार्ड दिया गया।

5- श्रीराम अयलूर

श्रीराम अयलूर लंदन के क्विलोन रेस्टोरेंट में एक्जक्यूटिव शेफ हैं। इनका बना सीफूड खाना बहुत ही लाजवाब होता है। इनको मिशलिन स्टार से 2008 में नवाजा गया था।

6- विकास खन्ना

विकास खन्ना को कौन नहीं जानता है। मास्टर शेफ में नजर आ चुके विकास खन्ना को उनके रेस्टोरेंट जुनून के लिए तीन साल तक 2012 से मिशलिन स्टार से सम्मानित किया गया। जो अपने आपमें एक बड़ी बात है।

7- मंजुनाथ मुरल

मिशलिन स्टार से सम्मानित मंजुनाथ को ये सम्मान उनके भारतीय रेस्टोरेंट के लिए दिया गया था। जो साउथईस्ट एशिया में बना है। यह एक बेहतरीन शेफ है।  जिन्ह मिशलिन स्टार प्राप्त है।

 

यह भी पढ़े: न्यूज़ एंकर अमीश देवगन की बढ़ी मुश्किलें, दरगाह पुलिस करेगी जाँच

 

 

Related Articles

Back to top button