आयुर्वेदिक दवाओं के रुप में इस्तेमाल होती है ये दाल, जानें इसके फायदे

लखनऊ: उड़द की दाल यानी छिलके वाली काली दाल हर किसी को पसंद आती है क्योंकि ये खाने में लजीज लगती है। इस दाल के फायदें क्या होते है ये आपको नहीं पता लेकिन हम आपको इसके फायदे बताएंगे। उड़द की दाल को आयुर्वेदिक दवाओं (Ayurvedic Medicines) के रुप में भी इस्तेमाल किया जाता है। इस दाल का आयुर्वेदिक (Ayurvedic) नाम “माशा” है। इसमें प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, फैट, विटामिन बी, आयरन, फोलिक एसिड, कैल्शियम, मैग्नीशियम और पोटेशियम भरपूर मात्रा में पाया जाता हैं। उड़द की दाल गर्भवती महिलाओं के लिए एक हेल्थ पैकेज की तरह काम करती है।

1- उड़द की दाल में उच्च मात्रा में फाइबर, मैग्नीशियम और पोटैशियम होते हैं जो हमारे हार्ट की हेल्थ बनाए रखने में बहुत फायदेमंद हैं।

2- ये दाल आयरन लाल रक्त कोशिकाओं के बनने में मदद करता है, जो आपके शरीर के सभी अंगों में ऑक्सीजन ले जाने के लिए जिम्मेदार है।

3- यह हड्डियों के मिनरल डेन्सिटी को बेहतर बनाने में अहम भूमिका निभाती है, नियमित रूप से उड़द की दाल का सेवन करने से हड्डी से संबंधित
समस्याओं को रोका जा सकता है.

4- उड़द की दाल हमारे नर्वस सिस्‍टम के लिए भी अच्‍छी होती है। हमारे ब्रेन को भी यह दाल हेल्‍दी रखती है। यह आपके तनाव को कम करने में भी मदद
करती है।

5- इस दाल में फाइबर भरपूर मात्रा में होता है जो शुगर और ग्लूकोज के लेवल को नॉर्मल बनाए रखने में मदद करता है।

6- अगर आप दर्द और सूजन से परेशान है और इससे तुरंत राहत पाना चाहते हैं तो उड़द की दाल का पेस्ट दर्द वाली जगह पर लगाएं, तो जल्द ही दर्द से
छुटकारा दिलाने में मदद मिलेगी है।

ये भी पढ़ें : BSNL के इन नए प्लानों से क्या जियों और एयरटेल को नुकसान होने वाला है?

 

Related Articles

Back to top button