घरों की हवा साफ कर पॉजिटिविटी लाते हैं यह पौधे, सुख-समृद्धि के द्वार को भी हैं खोलते

कहते हैं कि हर घर में हरे पौधे होने जरूरी होता है। हरे पौधे लगाने से घर और उसके आस-पास का वातावरण साफ़ रहता है। आजकल पॉल्यूशन के चलते ना केवल बाहर, घरों में भी हवा दूषित हो रही है। आजकल तो घर की सजावट में भी हरे पौधों का यूज किया जा रहा है। पर क्या आप यह जानते हैं कि कुछ हरे पौधे न केवल घरों की शोभा बढ़ाते हैं। बल्कि सुख-समृद्धि भी आती है। ये पौधे आसपास के वातावरण व हवा को शुद्ध करने का काम करते हैं।

एलोवेरा: आजकल हर घर में एलोवेरा का पौधा होना आम हो गया है। एलोवेरा कार्बन डाइऑक्साइड और कार्बन मोनोऑक्साइड को एब्जॉर्ब कर लेता है। घरों में लगाए जाने वाले लाभकारी पौधों में से यह एक है। एलोवेरा से ऑक्सीजन का लेवल बढ़ता है। बता दें कि एलोवेरा के एक पौधे को नौ एयर प्यूरीफायर (हवा को प्योर करने वाला इक्विपमेंट) के बराबर होता है। सबसे अच्छी बात तो यह है कि एलोवेरा हर मौसम और मिट्टी में आसानी से लग जाता है।

बांस (बैंबू): आजकल घरों में बांस का पौधा सजावट के तौर पर यूज किया जाने लगा है। पर बहुत कम लोग जानते हैं कि इसे घर में लगाने से घर में सौभाग्य आता है। इस पौधे को बढ़ने के लिए ख़ास धूप की जरूरत नहीं होती है। बांस का पौधा घर में अंदरूनी हिस्सों में रखने पर भी बढ़ सकता है। हवा को शुद्ध करने साथ ही यह घर में सौभाग्य भी लाता है। इस पौधे से हवा में मौजूद तमाम बैक्टीरिया मर जाते हैं। बांस का पौधा कम पानी में पनप सकता है और आस-पास की दुकानों में आसानी से मिल जाएगा। मनी प्लांट: वैसे तो लोगों का मानना है कि इस पौधे को लोग घर में लगाने से सुख-समृद्धि आती है, लेकिन क्या आप यह जानते हैं कि यह पौधा हवा भी शुद्ध करता है। इसे आइवी पौधा भी कहते हैं। आपको यह जानकर हैरानी होगी कि मनी प्लांट अपने रोपण के छह घंटे के अंदर ही हवा को शुद्ध करना शुरू कर देता है। मनी प्लांट हवा में मौजूद रेजिडुअल पार्टिकल्स को 58 % और हार्मफुल टॉक्सिक पार्टिकल्स को 60 % तक दूर कर देता है।

स्पाइडर पौधा: यह पौधा कम धूप में भी अच्छे से फोटो सिंथेसिस के लिए जाना जाता है। माना जाता है कि स्पाइडर पौधा कार्बन मोनोऑक्साइड, स्टेरीन और गैसोलीन को हटाकर हवा को शुद्ध करता है। अगर आपके घर में यह पौधा लगा है, तो इससे आपके घर के बच्चे और बड़े, दोनों को ही सांस से जुड़ी बीमारियों से काफी हद तक राहत मिलेगी।

Related Articles