इन खिलाड़ियों को मिलेगा Rajiv Gandhi Khel Ratna Award अन्य 3 को Arjuna Award

हॉकी इंडिया ने राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार के लिए गोलकीपर पीआर श्रीजेश और पूर्व महिला खिलाड़ी दीपिका को नामित किया है

नई दिल्ली: हॉकी इंडिया (Hockey India) ने राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार (Rajiv Gandhi Khel Ratna Award) के लिए गोलकीपर (Goalkeeper) पीआर श्रीजेश और पूर्व महिला खिलाड़ी दीपिका को नामित किया है, जबकि हरमनप्रीत सिंह, वंदना कटारिया और नवजोत कौर को अर्जुन पुरस्कार (Arjuna Award) के लिए नामांकित किया गया है।

हॉकी इंडिया ने पूर्व दिग्गजों डॉ आरपी सिंह और एम सीएच की सिफारिश की है। संगई इबेमहल को लाइफटाइम अचीवमेंट के लिए ध्यानचंद पुरस्कार के लिए सम्मानित किया गया। कोच बीजे करियप्पा और सीआर कुमार को द्रोणाचार्य पुरस्कार के लिए नामित किया गया है।

सबसे बड़ा खेल पुरस्कार

राजीव गांधी खेल रत्न भारत में दिया जाने वाला सबसे बड़ा खेल पुरस्कार (Sports Award) है। इस पुरस्कार को भारत के भूतपूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी के नाम पर रखा गया है, जिन्होंने 1984 से 1989 तक प्रधानमंत्री कार्यालय में सेवा की। यह प्रतिवर्ष खेल एवं युवा मंत्रालय द्वारा प्रदान किया जाता है। प्राप्तकर्ताओं को मंत्रालय द्वारा गठित एक समिति द्वारा चुना जाता है और उन्हें अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर पिछले चार साल की अवधि में खेल क्षेत्र में शानदार और सबसे उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिए सम्मानित किया जाता है।

इस पुरस्कार मे एक पदक, एक प्रशस्ति पत्र और नगद राशि पुरस्कृत व्यक्ति को दिये जाते है। सन् 2018 में यह राशी 7.5 लाख रुपये थी। लेकिन अब यह राशि बढ़ाकर 25 लाख कर दिया गया है। सम्मानित व्यक्तियों को रेलवे की मुफ्त पास सुविधा प्रदान की जाती है जिसके तहत राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार एवं ध्यानचंद पुरस्कार विजेता राजधानी या शताब्दी गाड़ियों में प्रथम और द्वितीय श्रेणी वातानुकूलित कोचों में मुफ्त में यात्रा कर सकते हैं।

1991-92 में स्थापित यह पुरस्कार पहले किसी खिलाड़ी को एक साल में शानदार प्रदर्शन के लिए दिया जाता था। 2014 की पुरस्कार चयन समिति द्वारा दिए गए सुझावों के आधार पर, मंत्रालय ने चार वर्षों की अवधि में प्रदर्शन पर विचार करने के लिए फरवरी 2015 में मानदंडों को संशोधित किया। किसी दिए गए वर्ष के लिए नामांकन 30 अप्रैल तक या अप्रैल के अंतिम कार्य दिवस तक स्वीकार किए जाते हैं, जिसमें एक खेल परकार के दो खिलाड़ियों से अधिक नामांकिन नहीं कर सकते है। एक 12 सदस्यीय समिति ओलंपिक खेलों, पैरालम्पिक खेलों, एशियाई खेलों और राष्ट्रमंडल खेलों जैसे विभिन्न अंतर्राष्ट्रीय आयोजनों में एक खिलाड़ी के प्रदर्शन का मूल्यांकन करती है। समिति बाद में खेल एवं युवा राज्यमंत्री के पास अपनी मंजूरी के लिए अपनी सिफारिशें भेजती है।

अर्जुन पुरस्कार

अर्जुन पुरस्कार (Arjuna Award) खिलाड़ियों को दिये जाने वाला एक पुरस्कार है जो भारत सरकार द्वारा खेल के क्षेत्र में उत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये दिया जाता है। इस पुरस्कार का प्रारम्भ 1961 में हुआ था। पुरस्कार स्वरूप 15 लाख रुपये की राशि, अर्जुन की कांस्य प्रतिमा और एक प्रशस्ति पत्र दिया जाता है।

यह भी पढ़ेछत की कांच, आलीशान खिड़कियां, घूमनें वाली सीटें, जानें इस नई ट्रेन की खासियत

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles