बदलते मौसम में दिख रहे हैं ये लक्षण तो हो जाएं सावधान! हो सकती है गंभीर बीमारी

0

नई दिल्ली। इन दिनों मौसम तेजी से बदल रहा है। जहां एक तरफ सर्दियों का मौसम अलविदा कह रहा है वहीं दूसरी तरफ गर्मियां अपनी दस्तक दे रही हैं। दोपहर में कड़ी धूप व शाम को हल्की ठंड अक्सर लोगों में बीमारी का कारण बनती हैं। ऐसे मौसम में वायरल फीवर होने की संभावना बढ़ जाती है। आज हम आपको इसके कुछ लक्षणों को बताने जा रहे हैं, जिन्हें नजरअंदाज करने से आपकी मुश्किलें बढ़ सकती हैं।

जानिए कैसे पहचानें इस वायरल फीवर के लक्षण

जब कोई व्यक्ति वायरल फीवर से संक्रमित हो जाता है तो उसे थकान महसूस होने लगती है, शरीर में दर्द होने लगता है। इस तरह के लक्षण के दिखते ही तुरंत डॉक्टर से इलाज कराना चाहिए, क्योंकि सही समय पर इलाज नहीं होने से इसका संक्रमण दूसरे व्यक्ति को भी हो सकता है। सिर दर्द, शरीर दर्द, भूख नहीं लगना, जोड़ों में दर्द होना, आंखें लाल होना, खांसी और जुकाम होना, कमजोरी महसूस होना आदि वायरल फीवर के प्रमुख लक्षण हैं। इन लक्षणों को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए और तुरंत इलाज कराना चाहिए।

कमजोर लोगों को इस बीमारी के होने की संभावना ज्यादा होती है

अगर आपके शरीर का इम्यून सिस्टम कमजोर है तो वायरल फीवर होने का खतरा बना रहता है। अक्सर उन्हीं लोगों को यह फीवर होता है जिनका इम्यून सिस्टम मजबूत नहीं होता है। अगर वायरल फीवर का इलाज तुरंत नहीं करवाया जाए तो यह आपके इम्यून सिस्टम को और ज्यादा कमजोर कर देता है, जिससे किसी दूसरी बीमारी के होने का भी डर बना रहता है।

ठंडा पानी पीने से बचना चाहिए

चेंज हो रहे मौसम में फ्रिज में रखा ठंडा पानी और कोल्ड ड्रिंक पीने से बचना चाहिए। ठंडा पानी पीने से हमारे गले में वायरल फीवर का वायरस एक्टिव हो जाता है और यह हमारे इम्यून सिस्टम को कमजोर करना शुरू कर देता है।

loading...
शेयर करें