इन टीमों का वर्ल्ड कप के सेमीफाइनल खेलना लगभग तय, नबंर 4 के लिए इन 4 टीमों में कड़ी टक्कर

0

आईसीसी क्रिकेट वर्ल्ड कप 2019 का आधा सफर करीब-करीब पूरा हो चुका है. इसी के साथ सेमीफाईनल में पहुंचने वाली तीन टीमों का भी नाम भी लगभग साफ हो गया है. ये तीन टीमें न्यूजीलैंड, ऑस्ट्रेलिया और भारत हैं. इन तीन टीमों के अलावा चौथी टीम कौन सी होगी, इसपर सस्पेंस बरकरार है. दक्षिण अफ्रीका, वेस्ट इंडीज और अफगानिस्तान अधिकारिक रूप से वर्ल्डकप से बाहर हो गई हैं. ऐसे में अब चौथे नंबर के लिए इंग्लैंड, बांग्लादेश, श्रीलंका और पाकिस्तान के बीच लड़ाई जारी है.

21 जून को इंग्लैंड से मिली जीत के बाद श्रीलंका ने बाकी बची टीमों के लिए सेमीफाइनल के रास्ते खोल दिए हैं. वहीं, 23 जून को दक्षिण अफ्रीका के साथ मिली जीत ने पाकिस्तान के लिए भी सेमीफाइनल के दरवाजे खोल दिए हैं. जानिए आखिर कौन सी टीम इस वर्ल्ड कप में किस पायदान पर है और कौन सी टीम सेमीफाईनल में अभी भी पहुंच सकती है.

न्यूजीलैंड-भारत का सेमीफाइनल खेलना लगभग तय

न्यूजीलैंड और भारत ही दो ऐसी टीमें हैं, जिन्हें अभी तक टूर्नामेंट में एक भी हार का सामना नहीं करना पड़ा है. यहां न्यूजीलैंड ने 6 में से 5 मैचों को जीतकर प्वाइंट्स टेबल में अपनी जगह सबसे ऊपर बनाई है तो वहीं भारत ने 5 में से 4 मैच जीते हैं. न्यूजीलैंड अगर एक और मैच जीत जाती है तो वो सेमीफाइनल में पहुंच जाएगी, वहीं भारतीय टीम को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए 2 और मैच जीतने होंगे. भारत को अपने अगले 4 मैच इंग्लैंड, वेस्टइंडीज, श्रीलंका और बांग्लादेश के साथ खेलने हैं.

ऑस्ट्रेलिया

वहीं ऑस्ट्रेलिया की आगे की टक्कर इंग्लैंड, न्यूजीलैंड और दक्षिण अफ्रीका के साथ है, जहां टीम को सेमीफाइनल में पहुंचने के लिए मात्र एक मैच जीतना है. अगर टीम 10 प्वाइंट पर रहती है तो उसे श्रीलंका पर निर्भर होने पड़ेगा जहां टीम अगर अपने बचे दोनों मैच हार जाती है और बांग्लादेश और पाकिस्तान अपना एक एक मैच हार जाती है तो ऑस्ट्रेलिया की टीम क्वालीफाई कर लेगी.

इंग्लैंड

टूर्नामेंट की शुरुआत में खिताब की सबसे बड़ी दावेदार और वर्ल्ड रैंकिंग में पहले पायदान वाली इंग्लैंड टीम को पाकिस्तान और श्रीलंका के हाथों हार का मुंह देखना पड़ा है. जिसके बाद मेज़बान को भारत, न्यूजीलैंड और ऑस्ट्रेलिया के साथ अपने अगले मुकाबले खेलने होंगे और अगर टीम तीनों मुकाबले हार जाती है तो टीम 8 प्वाइंट पर ही रहेगी और टूर्नामेंट से बाहर हो जाएगी. हालांकि अगर टीम एक और मैच जीत जाती है तब भी टीम क्वालीफाई नहीं करेगी. लेकिन अगर श्रीलंका अपने बचे तीनों मैच जीत जाती है तो वो इंग्लैंड को पीछे छोड़ देगी.

अगर टीम 8 प्वाइंट पर ही बनी रही तो

अगर श्रीलंका तीनों मैच हारती है तो तब जाकर इंग्लैंड क्वालीफाई करेगी. लेकिन अगर पाकिस्तान और बांग्लादेश अगर दोनों मैच हारती हैं और वेस्टइंडीज अपना एक मैच हारती है तो इंग्लैंड की टीम के लिए रास्ते खुल जाएंगे.

श्रीलंका

6 मैचों में 6 प्वाइंट. तीन मैच और खेलने हैं जिसमें अफ्रीका, वेस्टइंडीज और भारत है. तीनों मैच जीतने होंगे. अगर टीम 10 प्वाइंट पर रहती है तो उसे इंग्लैंड से ये मनाना होगा कि वो तीनों मैच हारे और बांग्लादेश और पाकिस्तान अपने मैच न जीते. ऐसे में वो क्वालिफाई कर सकती है.

बांग्लादेश

कल बांग्लादेश ने अफगानिस्तान को हरा दिया. अब टीम के 7 मैचों में 7 प्वाइंट हैं. बांग्लादेश को अभी भारत और फिर पाकिस्तान से भिड़ना है. अगर टीम ये दोनों मैच जीतती है तो वो क्वालीफाई कर लेगी. लेकिन श्रीलंका को अपने सभी मैच और इंग्लैंड को अपना एक मैच हारना होगा.

पाकिस्तान

साल 1992 की तरह ही इस बार भी इस टीम का यही हाल है. टीम को न्यूजीलैंड, बांग्लादेश और अफगानिस्तान से मैच खेलना है. अगर टीम तीनों मैच जीत जाती है तो टीम के 11 प्वाइंट हो जाएंगे. इसके बाद अगर इंग्लैंड 2 मैच हारती है और बांग्लादेश और श्रीलंका अगर 1-1 मैच हारते हैं तो टीम क्वालीफाई कर लेगी.

 

loading...
शेयर करें