हेयर कलर करवाने से पहले नहीं जानी ये बातें, तो पड़ सकता हैं बाद में पछताना !

0

नई दिल्ली। आजकल बालों में कलर करवाने का फैशन हो गया हैं। खासकर युवाओं में बालों को कलर करवाने का शौक खूब चढ़ा हैं। पर कभी कभी ये शौक भारी नुकसान भी करवा देता हैं। खबरों से पता चला हैं कि अमेरिका और यूरोप में बालों में कलर कराने वाले लोगों में कैंसर के लक्षण पाए गए हैं। जिससे ये साफ़ हो गया हैं कि हेयर्स पर कलर करवाने से कैंसर होने का खतरा हो सकता हैं।

हेयर कलर

बाजार में मिलने वाला बालों का रंग कई एक केमिकल चीजो से मिलकर बनाया जाता हैं। इन रसायनों के संपर्क में आने से कैंसर का खतरा बढ़ता है। एक अध्‍ययन में यह भी बताया गया कि जिन महिलाओं ने 1980 से पहले हेयर डाई का इस्‍तेमाल शुरू किया, उन्‍हें हेयर डाई न लगाने वाली महिलाओं के मुकाबले 30 फीसदी कैंसर होने का खतरा ज्‍यादा था। आपको अगर अपने बालों में रंग करने का मन हो तो आप घर पर बने हुए प्रोडक्ट को भी अपने हेयर्स पर यूज़ कर सकते हैं। इससे आपको नेचुरल रंग भी मिल जायेगा और आपको कोई बीमारी होने का भी डर नहीं रहेगा। चलिए आज हम आपको कुछ ऐसी जानकारी देंगे जिससे आप बालों में कलरिंग के नुकसान के बारे में जान सकते हैं और घरेलु उपाय की भी जानकारी देंगे जिससे आप अपना मनचाहां रंग करके अपना सुक पूरा कर सकते हैं।

बालों में कलरिंग के नुकसान-
हेयर डाई से ल्‍युकेमिया या लिम्‍फोमा होने का खतरा बढ़ता है। साथ ही इसे मूत्राशय कैंसर के खतरे से जोड़ कर भी देखा
गया है। डॉक्‍टरों के मुताबिक गर्भवती महिलाओं का बिना चिकित्‍सीय सलाह के हेयर डाई का इस्‍तेमाल नहीं करना चाहिए। हेयर कलर आपकी सेहत के साथ ही नवजात को भी नुकसान पहुंचा सकता है।परमानेंट हेयर कलर कराने के बाद कई बार लोगों में त्‍वचा संबंधी परेशानियों को देखा गया है। इसलिए आप स्‍थायी हेयर कलर की बजाय टेम्‍परेरी कलर कराएं तो बेहतर होगा।बालों को कलर कराते समय यह सुनिश्‍चित कर लें कि कौन सा कलर आपके बालों के लिए सही रहेगा, इस मामले में जरा सी लापरवाही आपके अच्छे बालों को नुकसान पहुंचा सकती है।

बालों को कलर करवाने से पहले आपको एलर्जी का भी ध्यान रखना चाहिए, कई बार कुछ कलर या डाई बालों को नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसे में यदि आपको अमोनियायुक्‍त डाई सूट न करें तो आप प्रोटीन युक्‍त डाई का प्रयोग भी कर सकते हैं। इसके लिए आप हेयर एक्सपर्ट या ब्यूटी पार्लर में जाकर परामर्श भी ले सकते हैं।हेयर कलर कराने वालों को कुछ समय बाद त्वचा संबंधी दिक्कतों जैसे बालों की कोमलता में कमी, बाल जल्दी सफेद होना आदि का भी साममा करना पड़ता है। हेयर कलर में मिला अधिक अमोनिया बालों के लिए नुकसानदायक हो सकता है।इससे आपके सिर से सारे बाल भी गायब हो सकते हैं।

बालों को घर पर कलर करने के दौरान ब्रश और हाथों में दस्तानों का प्रयोग जरूर करें और अपनी आखों का खासतौर पर ध्यान रखें। यह आपकी आंखों को नुकसान पहुंचा सकता है, इसलिए पहली बार किसी अनुभवी या प्रोफेशनल व्यक्ति से कलर करवाना चाहिए। बालों को कलर करने से पहले उन्हें धोकर सुखा लें और बालों को कंघी के एक सिरे से उठाते हुए कलर करें। इससे आपके बालों के टूटने का खतरा कम रहेगा।यदि आपकी दिनचर्या व्यस्त हैं तो आपको हल्‍का हेयर कलर इस्तेमाल करना चाहिए। इससे आपके बालों को ज्‍यादा नुकसान नहीं होगा।

नेचुरल तरीके से करें बालों को कलर- अगर आपको ये लगता है कि कॉफी का प्रयोग का सिर्फ पीने के लिए किया जाता है तो अब इसे भूल जाएं। क्योंकि कॉफी के प्रयोग से आप अपने बालों को नेचुरल ब्राउन शेड भी दे सकते हैं। कैसे? इसके लिए आप मेंहदी में कॉफी डालकर उसका अच्छी तरह पेस्ट बना लें। आप चाहें तो इस पेस्ट में 1 नींबू का रस भी मिला सकती हैं। अब इसे अपने बालों में लगाने के बाद करीब 2 से 3 घंटे सूखने दें। इसके बाद नॉर्मल पानी से बाल धो लें। आप देखेंगे कि आपके बालों में नेचुरल ब्राउन शेड आ रहा है।अगर आपको अपने बालों में नेचुरल और गहरा रेड शेड चाहिए तो आप चुकंदर का प्रयोग निसंकोच कर सकती है। इसके लिए थोड़े से गाजर के रस में कम से कम एक गिलास चुकंदर का रस मिला लें और उसके बाद उस मिश्रण को अपने बालों पर अच्छे से लगा ले। इसे करीब एक से दो घंटे तक रहने दें। जब ये रस बालों में सूखने लगे तो बालों को धो लें।

 

loading...
शेयर करें