IPL
IPL

WTC के फाइनल में पहुंचने पर इन दिग्गजों ने टीम इंडिया को दी बधाई

नई दिल्ली : भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली (Sourav Ganguly) ने शनिवार को जैव-सुरक्षित वातावरण में रहते हुए इतने लंबे समय तक अच्छा क्रिकेट खेलने के लिए भारतीय टीम (Indian team) को बधाई दी।

भारत ने शनिवार को नरेंद्र मोदी स्टेडियम (Narendra Modi Stadium) में चौथे और अंतिम टेस्ट में इंग्लैंड (England) को पारी और 25 रनों से हराकर श्रृंखला 3-1 से अपने नाम कर ली है। इस जीत के साथ ही भारत ने आईसीसी (ICC) विश्व टेस्ट चैम्पियनशिप (WTC) के फाइनल में अपनी जगह पक्की कर ली है।

छह महीने तक bubble में रहना आसान नहीं

पूर्व भारतीय कप्तान सौरभ गांगुली ने विराट कोहली (Virat Kohli) की अगुवाई वाली टीम को डब्ल्यूटीसी के फाइनल में क्वालिफाई करने के लिए बधाई दी और पिछले पांच महीनों से अच्छा क्रिकेट खेलने के “उत्कृष्ट” प्रयासों की सराहना की। गांगुली ने ट्वीट करते हुये कहा कि श्रृंखला जीतने और डब्ल्यूटीसी के फाइनल में पहुंचने के लिए टीम इंडिया (Indian team) को बधाई। इतने लंबे समय तक bubble में बने रहने के बाद भी पिछले 5 महीनों से ऐसा अच्छा क्रिकेट खेलना शानदार है।

इस बीच, भारत के मुख्य कोच रवि शास्त्री (Ravi Shastri) ने कहा कि bubble में रहना आसान काम नहीं है। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 13 वें संस्करण के बाद से भारतीय खिलाड़ी ब्रेक पर नहीं हैं और शास्त्री ने कहा कि जैव-सुरक्षित वातावरण (Bio-safe environment) में रहना “वास्तव में कठिन” कार्य है।

बदल सकता था मैच का परिणाम

शास्त्री ने पोस्ट मैच प्रेजेंटेशन में मजाक करते हुए कहें कि bubble में छह महीने, एक ही चेहरे को देखकर रहना आसान नहीं है, bubble फट जाएगा यह पेशेवर खिलाड़ियों के लिए कठिन है।

इसे भी पढ़े; कोरोना के खिलाफ लड़ाई में भारत ने दुनिया को छोड़ा पीछे

शास्त्री ने इंग्लैंड टीम को लेकर कहा कि आगंतुक पहला टेस्ट जीतने के बाद भी श्रृंखला जीतने में सफल नहीं हो सके। शास्त्री ने कहा कि 3-1 की स्कोरलाइन यह नहीं दर्शाती है कि यह श्रृंखला कितनी करीब थी। इंग्लैंड में हम श्रृंखला 1-4 से हार गए थे, इंग्लैंड उस चीज को यहां भुना लेता तो अलग परिणाम हो सकता था। बता दें कि भारत डब्ल्यूटीसी पॉइंट्स टेबल में 72.2 प्रतिशत अंकों के साथ नंबर एक टीम के रूप में सुमार हो गया है।

Related Articles

Back to top button