CAA और NRC के सहारे बिहार के तीसरे चरण का चुनाव

हार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हो या उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ या फिर एआईएमआईएम प्रमुख असद्दुदीन ओवैसी तीसरे चरण के चुनाव प्रचार में सबने CAA-NRC को अपना अहम मुद्दा बनाया है।

पटना: बिहार विधानसभा चुनाव में दो चरणों में मतदान हो चुके हैं। दो चरणों के चुनाव प्रचार में ऐसा नहीं लगा कि CAA-NRC भी बिहार चुनाव में एक अहम किरदार में रहेगी। तीसरे चरण के मतदान के लिए सीमांचल इलाके में CAA-NRC चुनाव प्रचार में एक अहम मुद्दा बनता जा रहा है।

प्रत्येक राजनीतिक पार्टियां बिहार के सीमांचल इलाके की जनता के वोट साधने के लिए CAA-NRC पर अपनी बिसात बिछा रही हैं। बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार हो या उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ या फिर एआईएमआईएम प्रमुख असद्दुदीन ओवैसी तीसरे चरण के चुनाव प्रचार में सबने CAA-NRC को अपना अहम मुद्दा बनाया है।

देश के लोगों को कोई बाहर नही निकाल सकता

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मुस्लिम बाहुल्य क्षेत्र किशनगंज के कोचाधामन में अपनी रैली के दौरान कहा कि कुछ लोग जनता में गलत बाते फैला रहे हैं कि उन्हें देश के बाहर कर दिया जाएगा। मैं कहता हुं कि किसके अंदर इतना दम है कि देश की जनता को देश के बाहर निकाल सके। यहां पर सभी लोग देश का हिस्सा हैं और उन्हें कोई बाहर नही निकाल सकता है।

यूपी के CM योगी बोले ‘बिहार से घुसपैठियों को भगाएंगे’

जहां पर नीतीश कुमार अपने बयान से सबको बचाने के प्रयास में लगे रहे वहीं दुसरी तरफ योगी आदित्यनाथ कटियार में अपने भाषण में भारत में घुसपैठियों को बाहर खदेड़ने की बात कर रहे थे। आदित्यनाथ ने रैली में भाषण में देते हुए कहा कि बाहर आए प्रतड़ितों को हमने अपने देश में सुरक्षा प्रदान की है। यदि कोई बाहरी व्यक्ति देश की सुरक्षा को भंग करता है तो हम उस घुसपैठिये को हम लोग देश के बाहर निकाल फेकेंगे।

योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बिहार के कटियार इलाके में भी काफी घुसपैठिये हैं जिसस् वहां के निवासी परेशान है, अगर उनकी सरकार सत्ता में आती है तो उन घुसपैठियों को देश के बाहर निकाला जाएगा।

CAA-NRC हिन्दुओं के मन में भी डर लाएगा

हैदराबाद से सासंद असद्दुदीन ओवैसी भी बिहार प्रचार में एनआरसी का मुद्दा उठा कर वहां पर अपनी दाल गलाने कोशिश में लगे हैं। CAA और NRC के मुद्दे को उठाकर ओवैसी ने मोदी और नीतीश पर निशाना साधते हुए कहा कि जब बीजेपी और आरएसएस सीमांचल में रह रहे लोगों को घुसपैठिये बता रही थी तब कांग्रेस और आरजेडी ने उनके पक्ष में कुछ क्यों नही बोला।

ओवैसी ने कहा कि सरकार सीएए-एनआरसी दोनों को लागू करने की बात कह रही है इस पर नीतीश कुमार क्यों चुप हैं। सीएए और एनआरसी केवल मुस्लिमों के लिए ही नही बल्कि हिन्दुओं के लिए भी सही नही है। इससे मुस्लिमों के साथ साथ हिन्हुओं में भी डर बैठेगा

ये भी पढ़ें : विश्व में काेरोना मामलों से निजात पाने वाले दशों में भारत, ब्राजील और अमेरिका टॉप पर

Related Articles

Back to top button