अगस्त के अंत तक आ सकती है कोरोना वायरस की तीसरी लहर: ICMR

डॉक्टर समीरन पांडा ने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान लोगों की रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता कम हुई है। ऐसे में कोरोना वायरस (corona virus) की तीसरी लहर का यह भी एक कारण बन सकता है।

नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस (corona virus) की दूसरी लहर के खत्म होते ही तीसरी लहर आने का अनुमान लगाया जाने लगा है। इंडियन कांउसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के डिवीजन ऑफ एपिडेमियोलॉजी एंड कम्युनिकेबल डिजीज के प्रमुख डॉक्टर समीरन पांडा ने यह आशंका जाहिर की है कि अगस्त के अंत तक कोरोना वायरस की तीसरी लहर आ सकती है।

डॉक्टर समीरन पांडा ने जानकारी साझा करते हुए बताया कि कोरोना वायरस (corona virus)  की तीसरी लहर, कोविड की दूसरी लहर जितनी ख़तरनाक नहीं होगी। हालांकि एक बार फिर से पूरा देश कोरोना की तीसरी लहर की जद में आएगा।

डॉक्टर समीरन पांडा ने बताया कि कोरोना महामारी के दौरान लोगों की रोगों से लड़ने की प्रतिरोधक क्षमता कम हुई है। ऐसे में कोरोना वायरस (corona virus) की तीसरी लहर का यह भी एक कारण बन सकता है। कमजोर इम्युनिटी के लोग कोरोना की इस लहर में आसानी से चपेट में आ सकते हैं।

समीरन पांडा का मानना है कि अगर ऐसी ही प्रतिरोधक क्षमता कम रही तो यह तीसरी लहर की एक बड़ी वजह बन सकता है। डॉक्टर समीरन पांडा ने यह भी दावा किया है कि कोरोना से लड़कर हासिल की गई इम्युनिटी को भी नया वेरिएंट कमजोर कर सकता है। अगर ऐसा हुआ कि कोरोना का नया वेरिएंट इम्युनिटी को दरकिनार कर गया तो बेहद तेजी से यह संक्रमण और फैल सकता है।

यह भी पढ़ें: Corona Update: देश में COVID-19 के 38,949 नए केस, जानिए राज्य में आंकड़े

http://(Puridunia हिन्दी, अंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles