यह लड़ाई सत्ता परिवर्तन की नहीं बल्कि बंगाल को ‘सोनार बांग्ला’ बनाने के लिए है-अमित शाह

कोलकाता : पश्चिम बंगाल (West Bengal) में विधानसभा चुनावों (Assembly election) से पहले, केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने गुरुवार को कहा कि यह लड़ाई भारतीय जनता पार्टी (BJP) को मजबूत करने और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) को उखाड़ फेंकने के बारे में नहीं है, बल्कि हमारे बंगाल (Bengal) को ‘सोनार बांग्ला’ (Sonar Bangla) बनाने और पूर्वी भारत की महिमा को फिर से बनाने के लिए है।

कोलकाता (Kolkata) में भाजपा के ‘सोशल मीडिया योद्धाओं’ के साथ बातचीत करते हुए, शाह ने कहा कि यह लड़ाई भाजपा को मजबूत बनाने के बारे में नहीं है,और ना ही ममता दीदी को उखाड़ फेंकने, सरकार बदलने या सीएम बदलने और किसी और को सीएम बनाने के बारे में है। यह लड़ाई हमारे बंगाल को ‘सोनार बांग्ला’ बनाने के लिए है।

टीएमसी और कम्युनिस्ट पार्टियों ने नहीं किया विकास

उन्होंने आगे कहा कि यह लड़ाई पूर्वी भारत के गौरव को फिर से बनाने के लिए है, और पूर्वी भारत से गरीबी दूर करने ,सीमाओं की सुरक्षा करने, घुसपैठियों को बाहर रखने, शरणार्थियों को नागरिकता प्रदान करने, उद्योग व शिक्षा क्षेत्रों में बंगाल को शीर्ष पर ले जाने के लिए है।

इसे भी पढ़े; सलमान खान को जोधपुर कोर्ट ने दी बड़ी राहत, आर्म्स एक्ट से जुड़ा था मामला

इससे पहले दिन में, शाह ने कूच बिहार से चौथी पोरीबोर्टन यात्रा को हरी झंडी दिखाई और कहा कि यह पहल मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बदलने के बारे में नहीं है, बल्कि ‘सोनार बांग्ला’ का निर्माण करने के लिए है।

अमित शाह (Amit Shah) ने दावा किया कि टीएमसी और कम्युनिस्ट पार्टियों ने राज्य में विकास के लिए कुछ नहीं किया है, उन्होंने कहा कि “हम ‘सबका साथ, सबका विकास’ के विचार के साथ काम करते हैं। हम हर समुदाय की संस्कृतियों, साहित्य और परंपराओं को आगे ले जाते हैं। बता दें कि पश्चिम बंगाल की 294 विधानसभा सीटों के लिए इसी वर्ष चुनाव होने वाले हैं।

Related Articles

Back to top button