सपनों की दुनिया कहलाता है एशिया का ये खूबसूरत द्वीप, यहां मिलती…

0

नई दिल्ली।  हम अपनी रोज़ की लाइफ में इतने व्यस्त रहते है कि हमारे पास बाहर की दुनिया को देखने के लिए समय ही नहीं रहता है। लेकिन अगर आप अपने काम के चलते परेशान है। आपका काम में मन नहीं लग रहा है तो आप कुछ दिनों के लिए घूम आएं, इससे आपका मन और तन दोनों ही फ्रैश हो जाते हैं और आप दोबारा अपने काम को पूरी तरह से एंजॉय के साथ करेंगे।अगर आप एशिया में सैर करने की सोच रहे हैं तो साउथ एशिया के मालदीव आइलैंड पर जाना बेस्ट ऑप्शनों में से एक है। आज हम आपको इंडोनेशिया के ही नहीं पूरे एशिया के सबसे खूबसूरत द्वीप ‘बाली’ की सैर कराने वाले हैं। हर साल यहां दुनिया भर से लाखों सेलानी अपनी छुट्टियां बिताने आते हैं।

दरअसल, बाली का नुसा दुआ एक बहुत ही खूबसूरत शहर है। पूरे शहर में हरे-भरे पार्क, हिंदू पुराणों के चरित्रों और नृत्य करती महिलाओं की मूर्तियां और विभिन्न उष्णकटिबंधीय पशु-पक्षी विचरण करते नजर आएंगे। धार्मिक त्योहारों के दौरान बाली के लोग मूर्तियों को कपड़े पहनाते हैं और मंदिरों में मूर्तियों के ऊपर छाते भी लगाए जाते हैं। यहां के लोग मृदुभाषी, मित्रतापूर्ण और धार्मिक हैं।

बाली को प्राचीन मंदिरों के लिए ‘सहस्त्र मंदिरों का द्वीप’ भी कहा जाता है। नीले समंदर के किनारे पर स्थित उलुवतु मंदिर पर्यटकों को आकर्षित करता है। वहां के लोगों के मुताबिक, 11वीं शताब्दी में निर्मित यह मंदिर बाली के उन नौ दिशात्मक मंदिरों में से एक है, जिन्हें बाली को बुरी आत्माओं से बचाने के लिए बनाया गया था। वैसे यहां मंदिर में जाने से पहले कमर पर एक विशेष कपड़ा बांधने की रीति है। मंदिर परिसर में एक खुले रंगमंच जैसी संरचना भी है, जहां शाम को हिंदू पौराणिक नाटकों का मंचन होता है।

 

loading...
शेयर करें