यूपी का ये शहर बनेगा IT हब, इतनी कंपनियां खोलेंगी अपने दफ्तर

उत्तर प्रदेश का नोएडा देश के बड़े सूचना प्रौद्योगिकी सेक्टर के हब के रूप में शुमार किया जाएगा

लखनऊ: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) का (Noida) देश के बड़े सूचना प्रौद्योगिकी (IT) सेक्टर के हब के रूप में शुमार किया जाएगा। बहुराष्ट्रीय कंपनी माइक्रोसॉफ्ट, अडानी ग्रुप और एमएक्यू जैसी बड़ी कंपनियों का नोएडा में डेटा सेंटर की स्थापना करने के बाबत जमीन खरीदना यह संकेत दे रहा है।

इन तीनों ही कंपनियों के अलावा HCL, गूगल और TCS नोएडा में पहले ही पैर पसार चुकी हैं। जबकि हीरानंदानी ग्रुप, नेटमैजिक सर्विस, एसटीटी प्राइवेट लिमिटेड और अग्रवाल एसोसिएट लिमिटेड भी डेटा सेंटर स्थापित करने के सरकार के साथ संपर्क में हैं।

 

 

टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में निवेश

राज्य में डेटा सेंटर और सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी (Technology) के क्षेत्र में निवेश कर रही ये कंपनियां मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के प्रयासों से ही राज्य में अपना उद्यम स्थापित कर रही हैं। यूपी इलेक्ट्रानिक्स विनिर्माण नीति -2017 के अंतर्गत दी गई रियायतों के चलते 30 बड़े निवेशकों ने आईटी सेक्टर में 20,000 करोड़ रुपये का निवेश करने में रूचि दिखाई। मुख्यमंत्री द्वारा IT सेक्टर में निवेश को बढ़ावा के लिए लायी गई IT Policy के चलते ही यह संभव हुआ है।

मैन्युफैक्च रिंग जोन

आईटी सेक्टर में निवेशकों के बढ़ती रूचि को देखते हुए सीएम योगी ने राज्य में इलेक्ट्रानिक्स निवेश को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में स्थित नोएडा, ग्रेटर नोएडा और यमुना एक्सप्रेस क्षेत्र को इलेक्ट्रानिक्स मैन्युफैक्च रिंग जोन घोषित करने का फैसला लिया है। सरकार के इस फैसले से चीन, ताइवान और कोरिया की अनेक प्रतिष्ठित कंपनियां यूपी में अपनी इकाइयां स्थापित करने के लिए आगे आयीं है। इन कंपनियों के निवेश संबंधी प्रस्तावों पर कार्रवाई करते हुए नवीन ओखला औद्योगिक विकास प्राधिकरण ने माइक्रोसॉफ्ट को सेक्टर 145 में 60 हजार वर्गमीटर आंवटित कर दी है।

यह भी पढ़ेThe Empire: Drashti Dhami ने शेयर किया पहला लुक, निभा रही योद्धा राजकुमारी का किरदार

(Puridunia हिन्दीअंग्रेज़ी के एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुकट्विटरइंस्टाग्राम और यूट्यूब पर फ़ॉलो भी कर सकते हैं)

Related Articles