ये देश अब खोजी कुत्तों से कराएगा कोरोना संक्रमितों की पहचान, अपनाया जाँच का अनोखा तरीका

नई दिल्ली: आप भी ये सुनकर अचंभित हो गए होंगे की ये कैसा तरीका है, पर ये सही है। फ़िनलैंड ने ये अनोखा तरीका अपनाया है। फ़िनलैंड में अब कोरोना संक्रमितों को खोजी कुत्ते ढूंढेंगे। फ़िनलैंड के हेलिंस्की एयर पोर्ट पर चार ट्रेनड खोजी कुत्तों को तैनात किया गया है। रिसर्चर्स का दावा है की कोविड 19 संक्रमितों की पहचान के लिए ये उपाय सस्ता और प्रभावी होगा।

हेलिंस्की यूनिवर्सिटी से सम्बद्ध एना हेल्म-बोर्कमैन के मुताबिक डिटेक्टिव कुत्ते SARC-COV2 वायरस को चाँद सेकंडों में भांप सकते हैं। एयरपोर्ट्स ही नहीं अस्पतालों से लेकर होटल-रेस्तरां, स्टेडियम, थिएटर और सांस्कृति केंद्रों तक में आने वाले बाहरी लोगों को की स्क्रीनिंग इसके जरिये आसानी से की जा सकेगी। इन प्रशक्षित कुत्तों से लोगों की स्क्रीनिंग मात्रा 1 मिनट में पूरी की जा सकती है।

ये भी पढ़ें : जानिए एक्ट्रेस मौनी रॉय का फ़िल्मी सफर, ऐसे हुई थी करियर की शुरुआत

अनोखा तरीका – कैसे पता करेंगे खोजी कुत्ते कौन है कोरोना संक्रमित :

एना हेल्म-बोर्कमैन ने बताया खोजी कुत्ते सीधे किसी व्यक्ति के संपर्क में नहीं आएंगे। जैसे कोई व्यक्ति एयरपोर्ट पर आता है। उससे सामान लेने के बाद हम उसे टिश्यू पेपर देते हैं। यात्री टिश्यू पेपर से अपनी त्वचा पोंछकर वहां रखे कांच के एक कंटेनर में उसे डालते हैं। कंटेनर के पास ही एक बूथ पर उसे रख डिजा जाता है। जहाँ पर अन्य गंध वाले टिश्यू पेपर कांच के कंटेनर में रखे होते हैं। प्रशिक्षित कुत्ते एक के बाद एक डिब्बों में रखे टिश्यू को सूंघते हैं। अगर खोजी कुत्ते जम्हाई लेकर, लेटकर या गुर्राकर वायरस की मौजूदगी की पुष्टि करते हैं तो उनके थ्रोट और नजल के सैंपल लिए जाते हैं और जाँच की जाती है जिससे कुत्तों के दिए संकेत पर मुहर लग सके। मान लीजिये यात्री की रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो उसे क्वारंटीन कर दिया जाता है।

16 कुत्ते तैयार हो रहे हैं तैयार –

कुत्तों को गंध पहचानने की विधा में पारंगत बनाने वाले संगठन ‘वाइज नोज’ ने बताया कि वह कोरोना संक्रमितों की पहचान के लिए 16 खोजी कुत्ते तैयार कर रहा है। इनमें से दस एयरपोर्ट पर तैनात होंगे। चार ने हेलिंस्की एयरपोर्ट पर सेवाएं देनी शुरू भी कर दी हैं।

 

Related Articles

Back to top button