मोदी सरकार के इस फैसले से नौकरीपेशा लोगों को लग सकता है बड़ा झटका, आप भी पढ़ें

नई दिल्ली। इस समय देशभर में गुजरात चुनाव के चर्चे चल रहे हैं। सभी पार्टियां जी जान से प्रचार करने में लगी हुई हैं। बीजेपी सरकार भी चुनाव में किसी तरह की कोई भी कसर नहीं छोड़ रही है। लेकिन, दूसरी तरफ जहां देश में बेरोजगारों की संख्या बढ़ती जा रही है वहीं बीजेपी सरकार नौकरीपेशा लोगों को एक और बड़ा झटका देने की फिराक में लगी हुई है।

यह भी पढ़ें, उत्तर प्रदेश में निकली 5314 पदों पर बंपर वेकेंसी, जल्दी करें आवेदन

मोदी सरकार

बता दें, जल्द ही मोदी सरकार नौकरी कर रहे लोगों को पीएफ पर मिलने वाली ब्याज दरों में कटौती करने वाली है। सूत्रों की माने तो रिटायरमेंट फंड बॉडी ईपीएफओ पीएफ पर मिलने वाली ब्याज दरों को घटाया जा सकता है। मौजूदा समय में पीएफ पर 8.56 फीसदी की दर से ब्याज मिल रहा है। लेकिन, लेबर मिनिस्ट्री की माने तो जल्द ही इसमें कटौती हो सकती है।

दरअसल, विनिमय व्यापार निधि यूनिट्स को भविष्य निधि खातों में जमा कर रही है। ऐसे में माना जा रहा है कि ईपीएफओ 2017-18 के लिए पीएफ में जमा राशियों पर ब्याज दर में कटौती कर सकता है। ऐसा इसलिए क्योंकि ईटीएफ निवेश को ईपीओफओ सीधे ग्राहकों के खाते में जमा कराएगा। हालांकि ईपीएफओ की ओर से इस बारे में कोई आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है।

वहीँ आपको बता दें कि इक्विटी निवेश के लेखांकन और मूल्यांकन के लिए ईपीएफओ ने पॉलिसी को मंजूरी दी है। जिसके तहत हर साल वित्तीय वर्ष के आखिरी में खाताधारकों के पीएफ में ईटीएफ इकाइयों को क्रेडिट करने में सक्षम हो जाएगी। इस हिसाब से आप खुद अपना पीएफ बैलेंस देख सकेंगे। साथ ही एक ही दिन में एनपीसीआई के जरिये पीएफ निकासी को भी मंजूरी दे दी गयी है। इसके बाद खाताधारक पीएफ फंड को आसानी से निकाल सकते हैं।

Related Articles