Trending

भारतीय इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ जब किसी ट्रेन के इंजन को सीज कर दिया गया हो

बीते 27 सितम्बर को लुमडिंग रिजर्व फॉरेस्ट में मालगाड़ी के चपेट में आने से एक हाथी और उसके बच्चे की मौत हो गई थी.

असम: भारत के इतिहास में ऐसा पहली बार हुआ है जब किसी ट्रेन के इंजन को सीज कर दिया गया हो. बीते 27 सितम्बर को लुमडिंग रिजर्व फॉरेस्ट में मालगाड़ी के चपेट में आने से एक हाथी और उसके बच्चे की मौत हो गई थी. इसके बाद असम के लुमडिंग रिजर्व फॉरेस्ट के अधिकारीयों ने रेलवे के खिलाफ मंगलवार को मुकदमा दर्ज कराया, जिसके बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए मालगाड़ी के इंजन (नंबर- 12440 WDG4) को सीज कर दिया.

लोको पायलट और सहायक लोको पायलट निलंबित

मुख्य वन्यजीव वार्ड के आईएफएस अफसर महेंद्र कुमार यादव ने बताया कि वन्यजीव (संरक्षण) अधिनियम, 1972 के तहत रेलवे अधिकारियों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया. इसके आलावा बामुनीमैदन लोको शेड के इंजन को जब्त कर लिया. वहीं लोको पायलट और सहायक लोको पायलट को रेलवे ने आंतरिक जांच के बाद निलंबित कर दिया है.

वन मंत्री का सख्त लहजा 

असम के पर्यावरण और वन मंत्री परिमल सुखाबैद्य ने बहुत ही सख्त लहजे में कहा की इस तरह की घटनाओं पे पाबंदी लगनी चाहिए. रेलवे के खिलाफ वन विभाग हर जरूरी कदम उठाएगा.

इंजन को 45 दिन के लिए रेलवे कस्टडी में दिया गया 

हालांकि इंजन को 45 दिन के लिए रेलवे कस्टडी में दे दिया गया है. वहीं कस्टडी के दौरान रेलवे से 12 करोड़ रुपये की जमानत भी ली गई है. इसके साथ ही इस मामले की जांच कर रहे प्रभागीय वनाधिकारी राजीब दास ने कहा है की रेलवे की कस्टडी में रहते हुए अगर इंजन के साथ कोई घटना होती है तो इसकी जिम्मेदारी पूरी तरह से रेलवे की होगी.

ये भी पढ़ें- भारतीय जनता पार्टी के चाणक्य का आज जन्मदिन, आरएसएस से गृह मंत्रालय तक का सफर

ये भी पढ़ें- भारतीय जनता पार्टी के चाणक्य का आज जन्मदिन, आरएसएस से गृह मंत्रालय तक का सफर

Related Articles