यूं ही नहीं आते आंसू और खड़े हो जाते हैं रोंगटे, ये है वजह

0

नई दिल्‍ली। हर किसी की लाइफ में कुछ ऐसी कॉमन चीजें होती हैं जिनपर अक्सर लोगों का ध्यान नहीं जाता। जैसे कई बार इंसान जब कोई ऐसी चीज देखता है जिसके बारे में उसने कभी सोचा नहीं होता तो उसके रोंगटे खड़े हो जाते हैं। इसके अलावा जम्हाई आना, अचानक छींक आना, आंसू का आना या फिर पानी में काम के दौरान उंगलियों का सिकुड़ना जैसी चीजें भी आये दिन होती रहती हैं।

आंसू

वैसे तो शरीर की इन सभी गतिविधियों पर आपने भी कभी ध्यान नहीं दिया होगा। लेकिन, इन सभी चीजों के पीछे भी कुछ कारण होते हैं। आज हम आपको बताएंगे ऐसा क्यों होता है।

रोंगटे खड़े होना

कई बार कुछ अनएक्सपेक्टेड चीज देखने, डर लगने या फिर ठंड लगने पर अक्सर हाथों के रोंगटे खड़े हो जाते हैं। लेकिन ऐसा यूं ही नहीं होता। इसके पीछे का कारण एड्रेनालाईन हार्मोन होता है। इस हार्मोन की वजह से skin में खिंचाव होने लगता है जिससे रोमछिद्र खड़े हो जाते हैं।

जम्हाई आना

वैसे तो दिनभर में ऐसा कई बार होता है जब काम के दौरान या खाली बैठे समय लोगों को जम्हाई आने लगती है। ज्यादातर लोग इसके पीछे की वजह नींद आना मानते हैं। वहीं, हाल में हुई एक स्टडी में खुलासा हुआ है कि जब शरीर को दिमाग का टेम्प्रेचर घटाना या कम करना होता है तो वो जम्हाई लेने लगता है।

छींक का आना

कई बार होता है कि जब आप किसी धूल, मिट्टी से भरी जगह पर जाते हैं तो आपको तुरंत छींक आने लगती है। ऐसे में जब जीवाणु सांस के द्वारा हमारे शरीर में प्रवेश करने की कोशिश करते हैं तो छींक एक फिल्टर की तरह उन्हें शरीर में प्रवेश करने से रोकती है।

उंगलियां सिकुड़ना

अक्सर आपने देखा होगा जब ज्यादा देर तक पानी में काम करना पड़ता है तो ऐसे में हाथों और पैरों की उंगलियां सिकुड़ जाती हैं। ऐसा उंगलियों में चिकनाहट आ जाने की वजह से होता है।

आंसू बहना

जब भी कोई इमोशनल मूमेंट सामने आता है या किसी भी बात का ज्यादा दुख होता है तो नेचुरली आंखों से आंसू आ जाते हैं। दरअसल, ऐसा होने से आंखों में नमी आ जाती है। जिसकी वजह से उस समय देखने में परेशानी नहीं होती है।

loading...
शेयर करें