इस आईलैंड में चलता है सांपों का राज, इंसान नहीं रख सकते कदम

0

नई दिल्ली। सांप से किसे डर नहीं लगता और जितना हो सके लोग इनसे दूर ही रहना पसंद करते हैं। लेकिन आज हम आपको एक ऐसी जगह के बारे में बताने जा रहे हैं जहां जाने की कल्पना मात्र से आप कांप उठेंगे। जी हां आज हम आपको बताने वाले हैं सापों की बस्ती के बारे में जहां इंसानों का जाना वर्जित है और वहां रहते हैं सिर्फ़ सांप।

ब्राजील में इलाहा दा क्यूइमादा आइलैंड सांपों के आइलैंड के नाम से ही जाना जाना जाता है। ये जानकर आप आश्चर्यचकित रह जाएंगे कि यहां हजारों से भी ज्यादा तादाद में सांप मौजूद हैं। इतना ही नहीं बल्कि यहां दुनिया के सबसे ज्यादा जहरीले और ख़तरनाक सांप पाए जाते हैं, जिनके काटने से इंसान की तुरंत मौत हो जाती है और उसकी बॉडी पूरी तरह से काली पड़ जाती है।Related image

खबरों की मानें तो कहा जाता है कि पहले यहां सांप इतनी घनी आबादी में नहीं पाए जाते थे तब इनकी संख्या बेहद कम थी। पहले आइलैंड के बीच के हिस्से में कुछ ही सांप पाए जाते थे और उस वक्त इस आइलैंड के चट पर लाइट हाउस में ब्राजीलियन परिवार रहता था उनमें से नेवी का एक कर्मचारी ड्यूटी दिया करता था। तो चलिए अब आपको एक परिवार की कहानी बताते हैं जिन्हें उन ज़हरीले जानलेवा सांपों ने अपना शिकार बनाया था।

यह कहानी उस परिवार की है जो आखिरी बार अपने परिवार के साथ इस आइलैंड के लाइट हाउस के कॉटेज की देखभाल करता था। इनकी ज़रूरत का सारा सामान नेवी के जहाज द्वारा इनके पास तक पहुंचाया जाता था। केयर टेकर अपनी पत्नी और अपने तीन बच्चों के साथ वहां रहता था, और तब सांपों की संख्या बेहद कम थी जिसके कारण उन्हें सांपों से डर भी नहीं लगता था। इस आइलैंड पर जहरीले गोल्डन पिटवाइपर सबसे अधिक पाए जाने वाले सांप हैं जिनका काटा पानी भी नहीं मांगता।

कॉटेज में रह रहे परिवार की मुश्किलें उस दिन बढ़ गईं, जब कुछ जहरीले गोल्डन पिटवाइपर सांप उनके कॉटेज में खिड़की से घुस गए। असल में खिड़की का कांच टूट हुआ था। जहरीले गोल्डन पिटवाइपर सांपों को कॉटेज में देखकर सारा परिवार डर गया और जान बचाने के लिए तट पर बंधी नाव की तरफ भागने लगा लेकिन कोई भी नाव तक नहीं पहुंच पाया। अगले दिन जब नेवी का जहाज वहां सामान देने पहुंचा तो उन्हें पूरे परिवार की लाशें मिली जो काली पड़ चुकी थीं।

दिल दहला देने वाली इस घटना के बाद लाइट हाउस को हमेशा-हमेशा के लिए बंद कर दिया गया, साथ ही सरकार ने इस आइलैंड पर इंसानों के जाने पर सख्त मनाई करते हुए प्रतिबंध लगा दिया। लेकिन आपने वो तो सुना ही होगा ना कि जिस काम के लिए इंसान को मना किया जाए उस काम को करना इसांन की फतरत में शुमार होता है। सरकार के प्रतिबंध लगाने के बाद भी कई इंसान अपनी जिज्ञासा शांत करने और घूमने के लिए चोरी-छुपे इस आइलैंड पर गए लेकिन कभी वापस लौटकर नहीं आए।

loading...
शेयर करें