सूचना और प्रसारण मंत्रालय की ओर से कलर्स टीवी चैनल को जारी किया गया ये नोटिस

सीरियल ‘राम सिया के लव कुश’ को लेकर सूचना प्रसारण मंंत्रालय ने कलर्स टीवी चैनल को नोटिस जारी किया है। मंत्रालय द्वारा जारी इस नोटिस में कहा गया है कि इस धारावाहिक में महार्षि वाल्मिकी और इतिहास से जुड़े तथ्यों को गलत तरीके से पेश किया जा रहा है| नोटिस में कहा गया है कि समाज के एक तबके के द्वारा पहले भी शो को लेकर पहले भी आपत्ति दर्ज कराई गई है, लेकिन पर उस पर कोई एक्शन नहीं लिया गया| ये सीरियल ‘राम सिया के लव कुश’ सीता के वनवास के बाद की कहानी है| वाल्मीकि आश्रम के उनके दिनों की| वाल्मीकि समुदाय ऋषि वाल्मीकि को अपना ईष्ट मानता है|

नोटिस में कहा गया है, ”शो में ये दिखाया गया है कि भगवान राम महार्षि वाल्मिकि जी के आश्रम में जाकर लव और कुश से मिले थे जबकि ये सही नहीं है| भगवान राम, लव और कुश से उस दौरान मिले थे जब दोनों ने अश्वमेध यज्ञ के दौरान ने घोड़ों को पकड़ कर आयोध्या के खिलाफ लड़ाई का ऐलान कर दिया था|”

आपको बता दें की इससे पहले सिंगर से बीजेपी नेता बने हंसराज हंस ने केंद्रीय सूचना और प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर से टीवी पर प्रसारित होने वाले कार्यक्रम ‘राम सिया के लव-कुश’ पर बैन लगाने की मांग की है। दिल्ली से सांसद हंसराज का कहना है कि सीरियल में वाल्मीकि समाज की धार्मिक भावनाओं का आहत किया गया है, इसलिए इस पर बैन की मांग की जा रही है।

Related Articles