4 महीने की प्रेग्नेंट ओंर रमज़ान के रोज़े रख ये नर्स कोरोना मरीजों की कर रही हैं सेवा

रमजान के पाक महीने में रोजा रखते हुए भी वह अपना फर्ज नहीं भूल रही हैं। इस पर उन्होंने कहा कि लोगों की सेवा करना उनका फर्ज है और वह लोगों की सेवा को ही अपना धर्म मानती है।

नई दिल्ली: जिस तरह से देश में कोरोना की दूसरी लहर ने हालात को बस से बदतर कर दिया है हर तरफ लोग जिंदगी के लिए लड़ाई लड़ रहे हैं। हर कोई रोता बिलखता नजर आ रहा है इस बीच कुछ लोग ऐसे भी है लोगों के चेहरे पर मुस्कान लाने की वजह बन रहे हैं। ऐसे में इंसानियत की मिसाल पेश करते हुए गुजरात के सूरत की एक नर्स जो 4 महीने की प्रेग्नेंट है और रमजान के रोजे भी रखते हुए अपना फर्ज नहीं भूली और लगातार मरीजों की देखभाल में लगी हुई है।

आपको बता दें कि इस नर्स का नाम नैंसी ऐयाज़ा मिस्त्री है जो सूरत के एक हॉस्पिटल में नर्स का काम करती हैं, इस वक़्त वह 4 महीने की गर्भवती हैं और लगातार कोरोना पीड़ित लोगों की सेवा में लगी हुई हैं। साथ ही रमजान के पाक महीने में रोजा रखते हुए भी वह अपना फर्ज नहीं भूल रही हैं। इस पर उन्होंने कहा कि लोगों की सेवा करना उनका फर्ज है और वह लोगों की सेवा को ही अपना धर्म मानती है।

बता दें कि इस वक्त माहे-रमजान का पाक महीना चल रहा है। ऐसे में नैंसी लगातार रोजा रखकर अपना धर्म और फ़र्ज़ दोनों निभा रही हैं इस पर उनका कहना है कि मैं नर्स की तरह अपनी ड्यूटी कर रही हूं। और मेरे लिए लोगों की सेवा करना ही सबसे बड़ा धर्म है। इस वक्त जब लोग परेशान हैं तो इस तरह के लोग और खबरें दिलों को सुकून देती है।

यह भी पढ़े: UP Corona Update: प्रदेश में पिछले 24 घंटों में COVID-19 के 38,055 नए मामले, App के जरिए Oxygen की निगरानी

Related Articles

Back to top button