इस चूहे के दांतों में है इतनी ताकत, तोड़ देता है नारियल के फल

0

नई दिल्ली। अभी तक आपने अपने घरों या सड़कों पर कई सारे चूहे को देखा होगा। कई बार इन्हें खाते हुए भी देखा होगा। लेकिन, हाल ही में एक ऐसे चूहे के बारे में पता चला है जो अपने दांतों से नारियल के फल को तोड़ देता है।

यह भी पढ़ें, सामने आया दुनिया का सबसे छोटा मेंढ़क, नाखून जितनी है इसकी लंबाई

चूहे

 

ऐसा माना जा रहा है कि दुनिया भर में भले ही इस चूहे के बारे में जानकार लोग हैरान हो जायें। लेकिन, सोलोमन द्वीप पर रहने वाले वंगुनू समुदाय के लोगों के लिए वीका नयी खोज नहीं है। वो काफी सदियों पहले से इस विशालकाय पेड़ों में रहने वाले चूहे के साथ रहते आये हैं।

बता दें, उरोमी वीका नाम के इस विशालकाय चूहे को पश्चिमी वैज्ञानिकों ने अपनी लिस्ट में शामिल कर लिया है। साथ ही इसे लुप्त होने के खतरे में पड़ा जीव भी घोषित कर दिया है। शिकागो के फील्ड म्यूजियम के वैज्ञानिक टायरोन लेवरी ने वहां रहने वाले लोगों से इस चूहे के बारे में बात करते हुए सुना था। उन्होंने कहा था कि यह चूहा अपने दातों से नारियल के फल को तोड़ देता है।

इस बात को सुनने के बाद कई साल तक वैज्ञानिक उस चूहे को ढूंढते रहे लेकिन, उन्हें सफलता नहीं मिली। लेवरी ने बताया, “मैं यह सवाल करने लगा कि ये सचमुच कोई नयी प्रजाति है या लोग सामान्य काले चूहे को ही वीका कह रहे हैं।” जब असली वीका सामने आया तो लेवरी को तुरंत समझ में आ गया कि यह स्थानीय किस्से कहानियों में सुनाई देने वाला चूहा हो सकता है।

वे बताते हैं, “खोपड़ी” के फीचर को देखकर मैंने तुरंत कई प्रजातियों को खारिज कर दिया। नयी प्रजाति सचमुच जबरदस्त है। उसका आकार सामान्य चूहे से चार गुना बड़ा है। फील्ड म्यूजियम ने इस बात की पुष्टि नहीं की है कि यह चूहा नारियल तोड़ सकता है, लेकिन उसमें अपने दांतों से छेद जरूर कर देता है। सोलोमन द्वीप दुनिया से बहुत अलग थलग है और वहां पाये जाने वाले आधे स्तनपायी जानवर हैं जो और कहीं नहीं पाये जाते।

उन्होंने बताया कि वीका खाने की खोज में भटकते हुए इस द्वीप पर आये थे। इसके बाद वो यहाँ नई प्रजाति के रूप में विकसित हो गए। यह सिर्फ यहीं पाए जाते हैं। लेवरी ने बताया कि “स्थिति ये थी कि यदि हमने इसे अभी नहीं पाया होता तो इसका पता ही नहीं चलता।” जहां यह मिला है वो एकमात्र ऐसा इलाका है जो डूबा नहीं है।

loading...
शेयर करें