24 घंटे के अंदर भाजपा को ये तीसरा झटका, इस पूर्व मुख्यमंत्री का बेटा भी कांग्रेस में शामिल

0

लोकसभा चुनाव की तारीख नजदीक आते ही राजनैतिक दलों में हलचल भी शुरू हो चुकी है। चुनाव से पहले नेताओं का पार्टी बदलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा.. ऐसे में खबरआई है कि उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा सांसद भुवन चंद्र खंडूरी के बेटे मनीष खंडूरी ने शनिवार को कांग्रेस का दामन थाम लिया है। उत्तराखंड के परेड ग्राउंड में कांग्रेस के चुनावी मंच पर पार्टी अध्‍यक्ष राहुल गांधी की मौजूदगी में मनीष खंडूरी का कांग्रेस में स्वागत हुआ.

पौड़ी से चुनाव लड़ सकते हैं मनीष खंडूरी

मनीष खंडूरी के पिता भुवन चंद्र खंडूरी बीजेपी के कद्दावर नेता हैं. बीसी खंडूरी पौड़ी सीट से लोकसभा सांसद हैं. ऐसा माना जा रहा है कि इसी सीट से मनीष खंडूरी को कांग्रेस टिकट मिल सकती है. बताया जाता है कि बीसी खंडूरी बीजेपी लीडरशिप से नाराज हैं. उनका स्टैंडिंग कमेटी ऑफ डिफेंस के चेयरमैन के तौर पर कार्यकाल भी नहीं बढ़ाया गया था. यह विवाद का मुद्दा भी बना था और इस मसले को कथित तौर पर एक अहम रिपोर्ट से जोड़ा गया था, जो उन्होंने हथियारों के आधुनिकीकरण पर तैयार की थी.

इस संबंध में जब कुछ दिन पहले उत्तराखंड भाजपा अध्यक्ष अजय भट्ट से सवाल किया गया था तो उन्होंने कहा था कि मनीष खंडूरी पार्टी के सदस्य नहीं हैं और इसलिए इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ता कि वह कहां जाते हैं।हालांकि, भट्ट ने कांग्रेस के इन दावों को नकार दिया कि राहुल गांधी की रैली में भाजपा के कई नेता कांग्रेस में शामिल हो जाएंगे। उन्होंने कहा, ‘भाजपा का कोई भी नेता 16 मार्च को कांग्रेस की रैली के दौरान उस पार्टी में नहीं शामिल हो रहा है।’

पहली चरण में ही उत्तराखंड में लोकसभा चुनाव

उत्‍तराखंड की पांच लोकसभा सीटों पर पहले चरण में 11 अप्रैल को मतदान होगा। उत्तराखंड में टिहरी गढ़वाल, गढ़वाल, अल्मोड़ा (SC), नैनीताल-ऊधमसिंह नगर और हरिद्वार पांच लोकसभा सीट है। 2014 के लोकसभा चुनाव में इन सभी सीटों पर भारतीय जनता पार्टी ने जीत दर्ज की थी। उस वक्त राज्य में कांग्रेस की सरकार थी। इसके बाद 2017 में हुए विधानसभा चुनावों में बीजेपी ने जीत दर्ज की। उत्तराखंड में बीजेपी और कांग्रेस के बीच सीधा मुकाबला होता है। 2014 के लोकसभा चुनाव में बीजेपी ने सभी पांच सीटों पर जीत दर्ज की थी। उत्तराखंड में फिलहाल बीजेपी सत्ता में है।

24 घंटे के अंदर भाजपा को ये तीसरा झटका

भाजपा को 24 घंटे के अंदर तीन बड़े झटके लगे हैं। असम के तेजपुर से सांसद रामप्रसाद शर्मा ने भी पार्टी से इस्तीफा दे दिया है। इससे पहले बीजेपी के राजस्थान के दिग्गज नेता देवी सिंह भाटी ने शुक्रवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने बीकानेर से मौजूदा सांसद और केंद्रीय मंत्री अर्जुन राम मेघवाल को टिकट नहीं देने की मांग को लेकर इस्तीफा दिया है। गुजरात में बीजेपी की महिला नेता रेशमा पटेल ने शुक्रवार को पार्टी से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने कहा कि वे बीजेपी से अलग होने के बाद भी क्षेत्र की जनता के लिए अंतिम समय तक काम करते रहेंगे।

loading...
शेयर करें