मिड डे मील खाकर इस साल 38 छात्र बीमार हुए

नई दिल्ली| मानव संसाधन विकास राज्य मंत्री उपेंद्र कुशवाह ने सोमवार को संसद में कहा कि इस वर्ष देश भर में मिड डे मील खाकर 38 बच्चे बीमार हुए। कुशवाह ने लोकसभा में लिखित जवाब में कहा, “सरकार ने सभी राज्यों और संघ शासित राज्यों के विद्यालयों की रसोइयों में गुणवत्ता, सुरक्षा और स्वच्छता के लिए निर्देश जारी किए हैं।”

मिड डे मील
उन्होंने कहा कि भोजन की गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिए भोजन बनाने के लिए एगमार्क क्वालिटी और ब्रांडेड उत्पाद सुनिश्चित करने तथा तैयार भोजन को शिक्षकों तथा स्कूल प्रबंधन कमेटी के एक सदस्य द्वारा जांचने के लिए निर्देश जारी किए हैं।

गुरुवार को एक अन्य लिखित जवाब में कुशवाह ने राज्यसभा में बताया था कि पिछले तीन सालों में देशभर के स्कूलों में मध्याह्न भोजन खाकर 887 विद्यार्थी बीमार हुए हैं। इस दौरान 30 बार खराब गुणवत्ता के भोजन की शिकायत पंजीकृत की गई।

मंत्री द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार, केंद्र ने 2017-18 सत्र में मध्याह्न भोजन पर 9,000 करोड़ रुपये व्यय किए।

Related Articles