इस साल पंडाल में दुर्गा मां के होंगे दर्शन, रावण का होगा अंत, गाइडलाइन जारी

लखनऊ: योगी सरकार ने रविवार को उत्तर प्रदेश में आने वाले शारदीय नवरात्रि, विजयादशमी, दशहरा और चेहल्लम के मद्देनजर दिशा-निर्देश जारी किए है। सरकार ने त्योहारों के दौरान लोगों से कानून-व्यवस्था और सांप्रदायिक सद्भाव बनाए रखने को कहा है। कोरोना वायरस रोग (कोविड-19) की तीसरी लहर के बारे में स्वास्थ्य विशेषज्ञों की चेतावनियों के मद्देनजर भी दिशा-निर्देश महत्वपूर्ण हैं, जिसके लिए केंद्र ने भी चिंता जताई है।

उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव (गृह) अवनीश कुमार अवस्थी ने कहा कि दुर्गा पूजा पंडाल और रामलीला मंच की स्थापना की अनुमति देते समय इस बात का ध्यान रखा जाए कि जन-आवागमन प्रभावित न हो। आदेश के मुताबिक, मूर्तियों को पारंपरिक लेकिन खाली जगह में स्थापित किया जाना चाहिए, उनका आकार जितना संभव हो उतना छोटा रखा जाना चाहिए और जमीन की क्षमता से अधिक लोग नहीं होने चाहिए।

इन सुविधाओं पर दिया ध्यान

प्रतिमा विसर्जन के लिए जितना हो सके छोटे वाहनों का प्रयोग करना चाहिए और कम से कम लोगों को कार्यक्रम में शामिल करना चाहिए। राज्य सरकार ने बिजली, पेयजल और साफ-सफाई जैसी सार्वजनिक सुविधाओं पर भी विशेष ध्यान दिया है।

शादी समारोह में छूट

योगी सरकार ने विवाह समारोहों पर प्रतिबंधों में ढील दी थी। इसने कहा कि राज्य में कोविड -19 के दैनिक मामलों की संख्या गिर रही है। हालांकि, त्योहारों के लिए दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि संक्रमण फिर से अपना सिर नहीं झुकाए।

 

Related Articles