इस भारतीय युवा ने बनाया अपना नया देश, खुद बना राजा, पिता को बनाया PM

0

नई दिल्ली- हाल ही में सूडान और मिस्र के बीच एक नया देश बना है, जिसका नाम है ‘किंगडम ऑफ दीक्षित’। आपको सुनने में यह भले ही अजीब लगे, लेकिन यह हकीकत है। भारत के एक युवा ने नॉर्थ अफ्रीका में जमीन के 800 स्क्वॉयर मील के हिस्से पर किंगडम ऑफ दीक्षित नाम दिया, वहीं अपना झंडा भी फहरा दिया और अपना देश घोषित कर दिया है।  वे चाहते हैं कि यूएन इस इलाके के लिए मान्यता दे।

PunjabKesari

इसके लिए उन्होंने एक वेबसाइट https://kingdomofdixit.gov.best/ बनाकर लोगों से इस देश की नागरिकता के लेने का आवदेन करने को भी कहा है।

मिली जानकरी के अनुसार अफ्रीका और मिस्त्र के बीच का जो क्षेत्र है उस पर किसी भी देश का कोई मालिकाना हक नहीं है। ऐसे में इंदौर के रहने वाले सुयश दीक्षित यहां पहुंच गए और उन्होंने अपने नाम का झंडा गाड़ दिया है। झंडा गाडऩे के बाद उन्होंने ऐलान कर दिया कि वे यहां अपना देश बनाएंगे और उसे किंगडम ऑफ दीक्षित का नाम देंगे। साथ ही उन्होंने कहा कि वे यहां के राजा यानी किंग सुयश दीक्षित हैं। इसी के साथ इस देश के प्रधानमंत्री, राष्ट्रपति और सेनाध्यक्ष सुयश के पिता है। उन्होंने अपने पिता को जन्मदिन पर ये देश गिफ्ट में दे दिया।

बता दे की  यह पूरा इलाका रेगिस्तानी है, जो मिस्त्र और सूडान की दक्षिणी सीमा से लगा हुआ है। मिस्त्र और सूडान इसे अपना इलाका नहीं मानते। मिस्त्र का मानना है कि 800 वर्ग मील का यह इलाका सूडान का है, तो सूडान यह मानता है कि यह मिस्त्र का है। 800 स्क्वॉयर मील के इस इलाके पर किसी भी देश का दावा नहीं है। 1899 में ब्रिटिशों द्वारा सीमा के निर्धारण के बाद यह दुनिया का ऐसा इलाका हो गया, जिस पर किसी देश का दावा नहीं है।

PunjabKesari

loading...
शेयर करें