Shakti Act: महिलाओं और बच्चियों के साथ अपराध करने वालों की अब खैर नहीं

मुंबई: प्रदेश में महिलाओं और बच्चियों पर हो अपराध को लेकर महाराष्ट्र की उद्धव सरकार सख्त हो गई है। सरकार एक ऐसा काननू बनाने जा रही है। जिसमें रेप करने वाली आरोपी को मौत की सजा दी जाएगी। इस बिल को कैबिनेट से मंजूर मिल गई है। और इसे जल्द ही विधानसभा में पेश किया जाएगा।

रेप पर होगी मौत की सजा!

महाराष्ट्र में महिलाओं और बच्चों के खिलाफ जघन्य अपराधों को रोकने के लिए राज्य मंत्रिमंडल ने एक विधेयक के मसौदे को मंजूरी दे दी है। इस बिल में दोषियों के लिए मौत की सजा, आजीवन कारावास और भारी जुर्माना समेत कड़ी सजा और मुकदमे की त्वरित सुनवाई के प्रावधान हैं।

पीड़िता को दिया जाएगा मुआवजा

महाराष्ट्र के गृह मंत्री अनिल देशमुख ने कैबिनेट बैठक के बाद कहा कि मंत्रिमंडल ने Shakti Act विधेयक के बिल को मंजूरी दे दी है। इस विधेयक में दोषी पाए जाने पर आरोपी को मौत की सजा, आजीवन कारावास और भारी जुर्माना समेत कड़ी सजा और जुर्माने लगाया जा सकता है। वहीं इस बिल में प्लास्टिक सर्जरी और चेहरे के पुनर्निर्माण के लिए एसिड अटैक पीड़िता को 10 लाख रुपये की राशि दी जाएगी।

30 दिन में पूरा करना होगा ट्रायल

गृह मंत्री अनिल देशमुख ने इस बिल की जानकारी देते हुए कहा कि इस विधेयक में रेप के मामलों की सुनवाई विशेष अदालतों में होगी और पुलिस को 15 दिनों में चार्जशीट दाखिल करनी होगी। उन्होंने बताया कि इस तरह के मामलों में अधिकतम 30 दिनों में ट्रायल पूरा करना होगा।

यह भी पढ़ें: बंगाल में बिगड़ती कानून-व्यवस्था को लेकर शर्मिंदा हुए धनखड़, डीजीपी से करेंगे मुलाकात

Related Articles