दलितों, पिछड़ों, वंचितों का हक हड़पने वाले बिहार की उम्मीदों को नहीं समझ पाएंगे: मोदी

मोदी ने बुधवार को राजग प्रत्याशियों के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बीते डेढ दशक में नीतीश कुमार के शासन में बिहार ने कुशासन से सुशासन की तरफ कदम मजबूत गति से बढ़ाएं हैं.

पटना: प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने आज कहा कि नीतीश कुमार की अगुवाई वाली राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) सरकार के प्रयासों के कारण बिहार ने असुविधा से सुविधा, अंधेरे से उजाले, अविश्वास से विश्वास और अपहरण उद्योग से अवसरों की ओर एक लंबा सफर तय किया है जिसके कारण लोगों की अपेक्षाएं और आकांक्षाएं बढ़ी है, यही इस सरकार की बड़ी कामयाबी है लेकिन जिन लोगों ने सिर्फ अपने परिवार के बारे में सोचा और दलितों, पिछड़ों, वंचितों का हक भी हड़प लिया वे लोग बिहार की उम्मीदों को समझ नहीं पाएंगे.

मोदी ने बुधवार को राजग प्रत्याशियों के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कहा कि बीते डेढ दशक में नीतीश कुमार के शासन में बिहार ने कुशासन से सुशासन की तरफ कदम मजबूत गति से बढ़ाएं हैं. राजग सरकार के प्रयासों के कारण बिहार ने असुविधा से सुविधा की ओर, अंधेरे से उजाले की ओर, अविश्वास से विश्वास की ओर, अपहरण उद्योग से अवसरों की ओर एक लंबा सफर तय किया है लेकिन सुशासन और विकास एक निरंतर चलने वाली प्रक्रिया है. जब यह सुविधा सामान्य जन तक पहुंचती है तब उसमें और सुविधा के लिए आकांक्षाएं बढ़ती है. बीते सालों में देश और बिहार के युवाओं की यही आकांक्षा और अपेक्षा बढ़ी है. उन्होंने कहा कि जो कभी वंचित था, अभाव में था और निराश था वह अब आकांक्षी बन गया है. यह बिहार की और राजग सरकार की बहुत बड़ी कामयाबी है. इसके लिए नीतीश कुमार बधाई के पात्र हैं.

प्रधानमंत्री ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी बाजपेयी कहते थे कि बिहार में बिजली की परिभाषा है जो आती कम है जाती ज्यादा है. उसी बिहार में ‘लालटेन’ काल का अंधेरा अब छट चुका है लेकिन बिहार की आकांक्षा अब लगातार बिजली और एलईडी बल्ब की है. उन्होंने कहा कि पहले अस्पताल में एक चिकित्सक का मिलना भी मुश्किल था. अब जगह-जगह चिकित्सा महाविद्यालय और अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) जैसी सुविधा की आकांक्षा है. पहले गांव-गांव में मांग थी कि किसी तरह खरंजा बिछ जाये, अब हर मौसम में बनी रहने वाली चौड़ी सड़कों की आकांक्षा है. पहले सामान्य रेलवे स्टेशन भी एक सपना था लेकिन अब रेलवे स्टेशन आधुनिक सुविधाओं से जुड़ी रहे साथ हीं नए-नए रेलवे रूट शुरू किये जाए, इसकी भी आकांक्षा है.

मोदी ने सवालिये लहजे में कहा कि बिहार के गरीब और मध्यम वर्ग की आकांक्षा कौन पूरी कर सकता है जिन्होंने बिहार को बीमार बनाया, बिहार को लूटा, क्या वह यह काम कर सकते हैं. जिन लोगों ने सिर्फ अपने परिवार के बारे में सोचा बिहार के एक-एक व्यक्ति के साथ अन्याय किया, दलितों, पिछड़ों, वंचितों का हक भी हड़प लिया, क्या वे लोग बिहार की उम्मीदों को समझ भी पाएंगे. उन्होंने कहा कि बिहार ही नहीं पूरे देश को भरोसा है कि उनकी आकांक्षाओं की पूर्ति यदि कोई कर सकता है तो वह सिर्फ और सिर्फ राजग ही है.

यह भी पढ़े:लल्लू ने योगी सरकार पर साधा निशाना, बोले- बेरोजगारी के बुरे दौर से गुजर रहा है यूपी

Related Articles

Back to top button